जागरण संवाददाता,देहरादून: उड़ीसा निवासी एक युवती ने दून के व्यापारी और उसके पुत्र पर बंधक बनाकर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। इस संबंध में पीड़िता ने दिल्ली में जीरो एफआइआर दर्ज कराई है। जिसे दून के थाना डालनवाला स्थानांतरित किया गया है। आरोप लगाने वाली युवती व्यापारी के यहां नौकरानी काम करती थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक, उड़ीसा की एक युवती को प्लेसमेंट कंपनी के माध्यम से दून में कर्जन रोड निवासी अमरजीत सेठी के यहां नौकरी के लिए भेजा गया। वह यहां वर्ष 2014 से दो हजार रुपये महीने में नौकरानी का काम करती थी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वर्ष 2014 से 2017 तक वह यहां नौकरानी का काम करती रही। पीड़िता के मुताबिक, अक्टूबर 2015 में अमरजीत सेठी और उसके पुत्र कुनाल सेठी ने पहली बार उसके साथ कर्जन रोड स्थित घर में बंधक बनाकर दुष्कर्म किया। इसके बाद से दोनों लगातार उसके साथ दुष्कर्म करते रहे। विरोध करने पर उसे जान से मारने की धमकी दी जाती थी। वह किसी तरह से उनके चंगुल से भागकर कुछ दिन बाद पहले दिल्ली पहुंची। जहां उसका संपर्क किसी एनजीओ से हुआ। जिसके बाद पीडि़ता की ओर से दिल्ली के मोतीनगर नगर थाने में आठ दिसंबर को तहरीर दी गई। दिल्ली पुलिस ने जीरो एफआइआर दर्ज कर मामले को दून रेफर कर दिया। जिसके बाद सोमवार रात को थाना डालनवाला पुलिस ने आरोपी अमरजीत सेठी और उसके पुत्र कुनाल सेठी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

थाना प्रभारी डालनवाला यशपाल बिष्ट ने बताया कि बुधवार को पीड़िता को थाना बुलाकर उसके बयान दर्ज किए जाएंगे। इसके बाद आगे की कार्रवाई शुरू होगी। आरोपी सहस्रधारा रोड स्थित एक पेट्रोल पंप का मालिक होने के साथ ही फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया पेट्रोलियम ट्रेडर्स के संयुक्त सचिव बताए जा रहे हैं। उधर, इस संबंध में आरोपियों से बार-बार संपर्क करने के बाद भी उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस