संवाद सहयोगी, विकासनगर: प्रदेशभर के सरकारी विद्यालयों की शैक्षणिक गुणवत्ता को मापने के लिए 14 दिसंबर को राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण कराया जाएगा। इसके तहत प्रत्येक ब्लॉक के चयनित विद्यालयों में कक्षा चार व कक्षा सात के छात्र-छात्राओं का बौद्धिक स्तर मापने व शैक्षणिक स्तर जांचने के लिए ¨हदी, अंग्रेजी, गणित, सामाजिक विज्ञान व विज्ञान विषय की परीक्षा ली जाएगी। इससे पूर्व मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धि सर्वेक्षण कराया जा चुका है। मंगलवार को खंड शिक्षा अधिकारी वीपी ¨सह ने ब्लॉक संसाधन केंद्र में बीआरपी व सीआरसी की बैठक लेकर 14 दिसंबर को होने वाले उपलब्धि सर्वेक्षण की व्यवस्थाओं का जायजा लेने के साथ ही परीक्षा के आयोजन को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

बीईओ ने बताया कि प्रदेश भर की सरकारी शिक्षा की गुणवत्ता मापने के लिए राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण की तर्ज पर विभाग प्रदेश स्तर पर उपलब्धि सर्वेक्षण करा रहा है। जिसका उद्देश्य बच्चों के शैक्षणिक व बौद्धिक स्तर का मापन कर आवश्यक सुधार लाने के लिए उचित कार्रवाई करना है। उन्होंने सीआरसी को बताया कि परीक्षा के लिए चयनित विद्यालयों में कक्ष निरीक्षक दूसरे विद्यालयों के नियुक्त किए जाएंगे। साथ ही तीस छात्र-छात्राओं पर एक कक्ष निरीक्षक की तैनाती की जाएगी। परीक्षा के बाद विषय विशेषज्ञों द्वारा मूल्यांकन संकुल स्तर पर किया जाएगा। मूल्यांकन के बाद छात्र-छात्राओं के शैक्षणिक स्तर का मापन होगा, जिस आधार पर विभाग आवश्यक सुधार के लिए कार्रवाई करेगा। इस दौरान बीआरपी प्रकाश चौहान, सीआरसी सरदार हर¨जदर ¨सह, सत्येंद्र रावत, नरेश चौधरी, कनैय्या ¨सह रावत, दिग्विजय बेधड़क, रामनारायण रतूड़ी, यशवीर, मुज्जमिल हयात, दर्शन, सुनील, राजेश आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस