जागरण संवाददाता,देहरादून: पटेलनगर पुलिस ने मंगलवार को दो शातिर चोरों को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से लाखों रुपये के चोरी किए हुए सोने-चांदी के गहने, सिक्के आदि बरामद किए गए हैं। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए चोर काफी शातिर हैं और इनमें से एक दिल्ली का हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ दिल्ली के थानों में चोरी, लूट के 18 मुकदमें दर्ज हैं। आरोपी कार में घूमकर बंद घरों की रेकी करते थे और मौका पाकर वारदात को अंजाम दे दते थे।

थाना प्रभारी पटेलनगर रितेश शाह ने बताया कि क्षेत्र में हो रही लगातार चोरियों के मद्देनजर एसएसआई विपिन बहुगुणा और चौकी प्रभारी बाजार नरोत्तम बिष्ट के नेतृत्व में टीम गठित कर क्षेत्र में संदिग्ध लोगों की चेकिंग और सत्यापन किया गया। मंगलवार को मुखबिर ने सूचना दी कि ब्राहमणवाला स्थित कबाड़ी बाजार के सामने महबूब कॉलोनी में एक कार खड़ी है। जिसमें कुछ संदिग्ध लोग बैठे हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने कार में सवार तीन लोगों में से दो को दबोच लिया। जबकि एक आरोपी बिंदाल नदी की ओर भाग निकला। आरोपी के कब्जे से सोने-चांदी के जेवर और अन्य सामान बरामद किया गया। आरोपियों की पहचान मुकेश कुमार पुत्र रघुवीर पाल निवासी सूरज पार्क, बादली, नई दिल्ली और इरशाद पुत्र जमीर निवासी जहांगीरपुरी सी ब्लॉक, नई दिल्ली के रूप में हुई है। जबकि फरार शातिर की पहचान इरफान निवासी जहांगीर पुरी, दिल्ली के रूप में हुई। पुलिस के मुताबिक, शातिर सात दिसंबर को हरिद्वार के रास्ते दून आए। इसी दिन उन्होंने एमडीडीए कॉलोनी में एक घर का ताला तोड़कर चोरी की थी। जिस कार से वह घूम रहे हैं, वह भी उन्होंने दिल्ली से चोरी की है।

एक दिल्ली का हिस्ट्रीशीटर

पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए आरोपी दिल्ली में कई मामलों मं जेल जा चुके हैं। इनमें इरशाद इरशाद हिस्ट्रीशीटर है और दिल्ली में उसके खिलाफ लूट और चोरी के 18 मामले दर्ज हैं।

ऐसे देते हैं वारदातों को अंजाम

थाना प्रभारी रितेश शाह ने बताया कि पकड़े गए आरोपी गैंग बनाकर चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं। किसी को शक न हो, इसके लिए वह कार में घूमकर बंद घरों की रेकी करते हैं और मौका मिलते ही वारदात को अंजाम दे देते हैं। शातिरों ने पूछताछ में बताया कि जब भी वह किसी घटना को अंजाम देते हैं तो वाहन को पांच सौ मीटर दूर खड़ा कर देते हैं और मोबाइल बंद करके कार में रख देते हैं। जिससे उनका नंबर ट्रेस न हो पाए। वह फोन में किसी का नंबर सेव नहीं करते।

बरामद माल

सोने की चेन, एक अंगूठी, सोने के छह टॉप्स, सोने के तीन कड़े, चांदी के 39 सिक्के, चांदी के दो कटोरे, चांदी के आठ बिछुवे, दो जोड़ी चांदी की पायल, चांदी का पैंडल, चांदी के 18 दाने, एक घड़ी, एक डोगल।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस