संवाद सहयोगी, विकासनगर: तहसील क्षेत्र के नवाबगढ़, डाक्टरगंज के बा¨शदों ने जल संस्थान कर्मियों पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। कहा कि पिछले दो वर्षों से बस्ती में दूषित पेयजल आपूर्ति की जा रही है। ग्रामीणों द्वारा कई बार जल संस्थान कार्यालय में शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। सोमवार को ग्रामीणों ने जल संस्थान के एसडीओ को ज्ञापन सौंप कर शुद्ध पेयजल आपूर्ति मुहैया कराने की मांग की है।

ज्ञापन सौंपने जल संस्थान कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि नवाबगढ़ व डाक्टरगंज को पेयजल आपूर्ति करने वाली लाइन दो वर्ष पूर्व क्षतिग्रस्त हो गई थी। पांच हजार से अधिक की आबादी को पेयजल आपूर्ति करने वाली लाइन के क्षतिग्रस्त होने के बावजूद जल संस्थान कर्मियों लाइन की मरम्मत नहीं की है। जगह-जगह से क्षतिग्रस्त पेयजल लाइन से पानी के साथ ही गंदगी भी नलों में आ रही है। जल संस्थान कर्मियों की लापरवाही के चलते ग्रामीण दूषित पानी पीने को मजबूर हैं। बताया कि लापरवाह कर्मी ग्रामीणों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। दूषित पानी पीने से गांव के बच्चे संक्रामक रोगों का शिकार हो रहे हैं। ग्रामीणों को शुद्ध पेजयल के लिए दो से तीन किमी. दूर हैंडपंप पर जाना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने एसडीओ को ज्ञापन सौंपकर क्षतिग्रस्त पेयजल लाइन की मरम्मत कर शुद्ध पेयजल आपूर्ति मुहैया कराने की मांग की है। ज्ञापन सौंपने वालों में क्षेत्र पंचायत सदस्य मोना ¨सह, पूर्व प्रधान चिरंजीव ¨सह, शेर ¨सह, मधुबाला, संगीता, भूपेंद्र, रमेश, करम ¨सह, कविता, जितेंद्र, शमिला, मीना, गुलाब ¨सह, सोनू आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस