राज्य ब्यूरो, देहरादून। प्रदेश में चिह्नित अटल उत्कृष्ट विद्यालयों को इस माह सीबीएसई से मान्यता दिलाने के लिए सरकार ने ताकत झोंक दी है। इस कार्य को जल्द पूरा करने के लिए राज्य स्तर पर दो और 13 जिलों में एक-एक नोडल अधिकारी नामित किया है। राज्य के प्रत्येक जिले के प्रत्येक ब्लाक में दो-दो राजकीय इंटर कालेजों को अटल उत्कृष्ट विद्यालयों के रूप में चिह्नित किया है। इन विद्यालयों को सीबीएसई से मान्यता दिलाई जाएगी। सीबीएसई मान्यता आवेदन के लिए अपनी वेबसाइट खोलने को राजी हो चुकी है। सरकार उक्त सभी विद्यालयों को इसी माह मान्यता दिलाना चाहती है। आगामी एक अप्रैल से सीबीएसई के स्कूलों के साथ ही इन विद्यालयों को संचालित करने पर जोर दिया जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक सीबीएसई के साथ आनलाइन बैठक में यह सहमति बन चुकी है कि हर विद्यालय आगामी तीन वर्ष के भीतर स्थायी मान्यता के संबंध में भूमि व भवन समेत सभी जरूरी औपचारिकता पूरी कर दी जाएंगी। जिन अटल उत्कृष्ट विद्यालयों में वनभूमि या अन्य पेच थे, उन्हें सुलझा लिया गया है। शासनादेश के मुताबिक सीबीएसई से मान्यता दिलाने की प्रक्रिया के लिए राज्य व जिला स्तर पर नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं।

राज्य स्तर पर माध्यमिक शिक्षा के अनुसचिव शिव विभूति रंजन और समग्र शिक्षा अभियान के राज्य परियोजना निदेशक मुकुल कुमार सती नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। सभी 13 जिलों में मुख्य शिक्षा अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। शिक्षा सचिव ने नोडल अधिकारियों को तालमेल स्थापित कर मान्यता की कार्यवाही शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें-पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा- स्लाटर हाउस पर रोक व ग्रामीण क्षेत्रों को प्राधिकरण मुक्त करना जरूरी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021