जागरण संवाददाता, देहरादून : उत्तराखंड में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के कार्यो में विस्तार हुआ है। राजपुर रोड स्थित विश्व संवाद केंद्र में पत्रकारों से वार्ता में आरएसएस के प्रांत कार्यवाह लक्ष्मी प्रसाद जायसवाल ने बताया कि गत वर्ष उत्तराखंड में 774 स्थानों पर 1192 शाखाएं थी। लेकिन, वर्तमान में 875 स्थानों पर 1252 शाखा संचालित हो रही हैं। देशभर में भी आरएसएस के कार्यो में तेज गति से वृद्धि हुई है।

राजस्थान के नागौर मे हुई राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की तीन दिवसीय अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक से लौटे लक्ष्मी प्रसाद जायसवाल ने बताया कि देशभर में वर्ष 2014-2015 मे 6183 ब्लॉक में से 5313 ब्लॉक में संघ का कार्य था। अब 5335 ब्लॉक में संघ कार्य हो रहा है। ज्वाइन आरएसएस वेबसाइट के जरिये भी रोजाना 8 हजार लोग संघ से जुड़ रहे हैं।

श्री जायसवाल ने बताया कि प्रतिनिधि सभा की बैठक में स्वास्थ्य, शिक्षा, संस्कार और समाजिक सरोकारों व समरसता को लेकर कई प्रस्ताव पास किए गए। केंद्र और राज्य सरकारों से अनुरोध किया गया कि इस संबंध में प्रभावी कदम उठाए जाएं। निजी शिक्षण संस्थानों की मनमानी रोकने के लिए भी प्रस्ताव पास कर केंद्र व राज्य सरकारों से आग्रह किया गया है।

आरक्षण पर उन्होंने कहा कि संघ का स्टैंड इस मुद्दे पर साफ है। शीर्ष पदाधिकारी इस पर वक्तव्य दे चुके हैं। उन्होंने कहा जिन लोगों को अपनी जमीन खिसकती नजर आ रही है वही संघ को निशाना बना रहे हैं। प्रेसवार्ता में प्रांत प्रचार प्रमुख किसलय सैनी, संघ चालक देहरादून जीके मित्तल आदि मौजूद रहे।