देहरादून, जेएनएन। कोरोना वायरस से लड़ाई के लिए श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ने भी हाथ बढ़ाए हैं। अस्पताल के चेयरमैन श्री महंत देवेंद्र दास जी महाराज व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के बीच बुधवार को फोन पर विस्तृत बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि आपात स्थिति में श्री महंत इंदिरेश अस्पताल अस्पताल के सभी डेढ़ हजार बेड कोरोना के मरीजों के उपचार के लिए आरक्षित कर दिए जाएंगे। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय, श्री गुरुराम राम राय के सभी संस्थानों व पब्लिक स्कूलों को भी अलर्ट जारी कर दिया गया है।

किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए श्री गुरु राम राय एजुकेशन मिशन के संस्थान व अस्पताल पूरी तैयारी के साथ हर संभव मदद उपलब्ध करवाएंगे। इसके अलावा उन्होंने कोतवाली के प्रभारी इंस्पेक्टर एसएस नेगी से भी बात की। कहा कि ऐसे जरूरतमंद लोग जिन्हें भोजन की समस्या आ रही है, वे खुड़बुड़ा पुलिस चौकी में संपर्क कर पुलिस की मदद से श्री दरबार साहिब परिसर से भोजन कर सकते हैं। 

श्री दरबार साहिब में बिना भीड़ लगाए एक-एक कर जरूरतमंद लोग भोजन के लिए आ सकते हैं। जिससे किसी तरह की दिक्कत न हो। उन्होंने कहा कि वह जरूरतमंदों की हर संभव मदद के लिए तैयार है। हरिद्वार में संत समाज से भी उन्होंने बातचीत की है। आर्थिक तंगी के कारण जिन लोगों को खाद्य सामग्री मिलने में परेशानी आ रही है, श्री दरबार साहिब उन्हें निश्शुल्क खाद्य सामग्री भी उपलब्ध करवाएगा।

ग्राफिक एरा विश्वविद्यालय ने की सहयोग की पेशकश

ग्राफिक एरा विवि ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार के प्रयासों में भागीदारी की पहल की है। इसके लिए ग्राफिक एरा ने 60 कमरे उपलब्ध कराने की पेशकश की है। निजी संस्था द्वारा की जाने वाली यह अपनी तरह की पहली पेशकश है।

ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. कमल घनशाला ने कहा कि सरकार को जिस तरह व्यापक स्तर पर भवनों की आवश्यकता है, उसके मद्देनजर यह पेशकश की गई है। उत्तरकाशी की वर्ष 2012 की भीषण दैवीय आपदा, 2013 की केदारनाथ आपदा उसके बाद जंगलों की आग के दौरान ग्राफिक एरा के स्वंय सेवकों द्वारा सबसे पहले आगे आए व राहत व बचाव कार्य इसके उदाहरण हैं। 

हर वर्ष राज्य के बेसहारा और जरूरतमंद मरीजों की जीवन रक्षा के लिए सर्वाधिक रक्तदान का ग्राफिक एरा का कीर्तिमान भी उसके इन्हीं सरोकारों से जुड़ा है। डॉ. घनशाला ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित लॉकडाउन को सफल बनाने व सरकार के प्रयासों में अपनी भागीदारी बढ़ाई है। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्तराखंड में 62 और रिपोर्ट निगेटिव, 12 आइसोलेशन में भर्ती; 90 क्वारंटाइन

इस संबंध में ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. राकेश कुमार शर्मा ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र भेजकर अटैच बाथरूम वाले 60 कमरे क्वारंटाइन के लिए देने की पेशकश की है। क्वारंटाइन किए जाने वाले लोगों के लिए यह आवासीय सुविधा विश्वविद्यालय परिसर के बाहर उपलब्ध कराई जाएगी। मानव संसाधन विकास मंत्रलय को भी इस संबंध में पत्र भेजा गया है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्तराखंड में सैंपल जांच के कार्यो में तेजी अब आएगी

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस