संवाद सहयोगी, चम्पावत/देवीधुरा : जल संस्थान की लापरवाही के कारण देवीधुरा में पेयजल योजना का हजारों लीटर पानी रात भर सड़क पर बहता रहा। बारिश से क्षतिग्रस्त लाइन की मरम्मत किए बिना पानी की सप्लाई कर दी गई। कर्मचारियों को लाइन क्षतिग्रस्त होने की सूचना पहले से ही थी, लेकिन इसके बाद भी लाइन में पानी की सप्लाई करना लोगों के गले नहीं उतर रहा है। उनका कहना है कि लोग बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं, लेकिन विभाग पानी को सड़क पर बहाकर बर्बाद कर रहा है।

बारिश के कारण गत शनिवार को देवीधुरा कस्बे को जोड़ने वाली पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो गई थी। तब से पूरे बाजार की पेयजल आपूर्ति बंद है। लोगों द्वारा पांच दिन तक भी लाइन की मरम्मत नहीं की गई। स्थानीय निवासी प्रेम बल्लभ जोशी, राजेंद्र सिंह, बची सिंह आदि ने बताया कि बुधवार की शाम चार बजे विभाग ने लाइन में पानी की सप्लाई कर दी। जिससे देवीधुरा मंदिर से पास टूटे पाइप से रात भर पानी सड़क पर बहता रहा। व्यवसायी हेम चन्द्र जोशी ने बताया कि उनके घर में कई महीनों से पानी नहीं आया लेकिन विभाग लगातार बिल थमा रहा है। इधर विभागीय कर्मचारियों की लापरवाही से पानी बर्बाद हो रहा है। ::::::::: रैघाड़ी गांव में पेयजल संकट से लोग परेशान

चम्पावत : पनार घाटी से जुडे़ रैघाड़ी गांव में पेयजल योजना ध्वस्त होने से पेयजल संकट पैदा हो गया है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजकर पेयजल योजना सुचारू करवाने की मांग की है। विधायक के जिला पंचायत प्रतिनिधि प्रकाश राय, मनोज राय, शिवनाथ राय, चन्द्रशेखर राय, पार्वती देवी, देवीदत्त आदि ने बताया कि लोनिवि द्वारा गांव के लिए सड़क काटने के दौरान पेयजल योजना ध्वस्त हो गई थी, जिसे अभी तक दुरूस्त नहीं किया गया है। योजना ध्वस्त होने से रैघाड़ी गाव के अलावा स्कूलों की पेयजल व्यवस्था ठप पड़ी हुई है। इस संबंध में गाव के लोग लगातार जल संस्थान एवं लोनिवि के अधिकारियों से गुहार लगाते आ रहे हैं, लेकिन समस्या का समाधान नहीं किया जा रहा है। जिलाधिकारी से हस्तक्षेप कर पेयजल सुविधा बहाल करने की माग की है। इधर लोनिवि के अधिशासी अभियंता एनसी पलड़िया का कहना है कि योजना सड़क निर्माण से ध्वस्त होने का मामला कभी भी उनके संज्ञान में नहीं आया। बताया कि विभाग सड़क निर्माण से ध्वस्त होने वाली पेयजल योजनाओं की मरम्मत कर आगे का कार्य शुरू करता है। ========== देवीधुरा में बारिश के कारण दीवार टूटने से नीचे से गुजर रही पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त हो गई थी। लाइनमैन ने बिना पाइप को जोड़े पानी की सप्लाई कैसे कर दी, इसकी जांच की जाएगी। गुरुवार को लाइन की मरम्मत कर दी गई है।

-चंद्रशेखर पंत, अपर सहायक अभियंता, जल संस्थान, पाटी

Edited By: Jagran