बनबसा, जेएनएन : नेपाल में बन रहे डायपोर्ट को जोड़ने के लिए भारत से बन रही सड़क निर्माण के लिए सर्वे करने आई टीम को ग्रामीणों ने विरोध कर दिया। जिसके बाद टीम को बैरंग वापस लौटना पड़ा।

बता दें कि नेपाल के कंचनभोज में नेपाल सरकार द्वारा सूखा बंदरगाह (डायपोर्ट) निर्माण कराया जा रहा है। भारत को बंदरगाह से जोड़ने के लिए बनबसा के जगबूढ़ा पुल से भारत नेपाल सीमा से लगे भारतीय सीमा में आने वाली ग्राम सभा गुदमी के अंतगर्त लाटाखल्ला, गड़ीगोठ और भैंसाझाला होते हुए सड़क निर्माण किया जाना है। जिसके सर्वे के लिए दिल्ली से आई गरुड़ इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी की टीम को ग्रामीणों ने कार्य नहीं करने दिया और विरोध करने लगे। ग्रामीणों के विरोध की सूचना के बाद पहुंची पुलिस के आने के बाद भी ग्रामीणों ने विरोध जारी रखा। जिसके बाद सर्वे टीम वापस लौट गई। ग्रामीणों का कहना है कि की प्रस्तावित सड़क को गाव के बीच और ग्रामीणों की भूमि पर न बनाए जाए। ग्रामीणों ने कहा कि वन विभाग की खाली पड़ी भूमि पर ही सड़क निर्माण कराया जाए। गरुड़ कंपनी के सर्वेयर जितेन्द्र का कहना है कि सड़क निर्माण का सर्वे करने टीम यहा पहुंची थी, लेकिन ग्रामीणों के भारी विरोध के चलते सर्वे का कार्य रोकना पड़ा है। विरोध करने वालों में अर्जुन भंडारी, पूरन सिंह, दीपक जोशी, गजेन्द्र सामंत सहित दर्जनों ग्रामीण शामिल थे।