संवाद सहयोगी, चम्पावत : देश में आए दिन किसी न किसी कारण से किए जा रहे भारत बंद से आम लोग परेशान हैं। कई स्थानों पर बंद को लेकर व्यापारियों व अन्य संस्थानों से जबर्दस्ती की जाती है। जिसे लोग सही नहीं बताते हैं। व्यापारियों का कहना है महंगाई या अन्य सामाजिक कोई मुद्दा हो उस पर भारत बंद करना सही नहीं है। इससे आम लोगों पर विपरीत असर पड़ता है। भारत बंद का असर सरकार पर पड़े न पड़े लेकिन जो लोग मेहनत मजदूरी कर अपना पेट पाल रहे हैं उन पर जरुर पड़ता है। लोगों का कहना है किसी भी समाजिक बुराई के विरोध में या सामाजिक हितों के समर्थन में भारत बंद कराना सही नहीं है।

भारत बंद को लेकर मुद्दा चाहे जो भी हो उससे आम लोगों व व्यापारियों को परेशानी उठानी पड़ती है। हालाकि कई बार व्यापारी बंद को समर्थन दे देते हैं लेकिन उससे उन्हें काफी नुकसान भी उठाना पड़ता है। जनपद में हाल ही में आरक्षण के विरोध में कई स्थानों पर व्यापारियों व कई प्रतिष्ठानों के लोगों ने भारत बंद का समर्थन दिया और कई जगह बंद का कोई असर नहीं दिखाई दिया। इसी प्रकार सोमवार को भाजपा सरकार में पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़ने के साथ साथ बढ़ती महंगाई पर विपक्षी दलों ने भारत बंद का ऐलान किया था, लेकिन जनपद में भारत बंद विफल रहा। इसके बारे में जब व्यापारियों व आम लोगों से पूछा तो उन्होंने कुछ इस प्रकार अपनी प्रतिक्रिया दी। लगातार बढ़ रही महंगाई के विरोध में हम अपना समर्थन देते हैं लेकिन इसके लिए बार-बार बाजार बंद किया जाना सही नहीं है। इससे व्यापारियों के व्यवसाय पर बुरा असर पड़ता है साथ ही आम लोगों को भी काफी दिक्कते झेलनी पड़ती हैं।

- जगदीश चंद्र सेलिया, व्यापारी। महंगाई में कोई खास वृद्धि नहीं हुई है। पेट्रोल में चार-पांच रुपये का इजाफा हुआ है तो दाल, चावल, आदि चीजों के मूल्यों में पिछले वर्षो की अपेक्षा कमी आई है। इसलिए बाजार बंद को सर्मथन नहीं देते हैं।

- योगी, मिष्ठान विक्रेता। सब राजनैतिक खेल है। दुकानें बंद करने से व्यापारियों को नुकसान व आम लोगों को परेशानी उठानी पड़ती है। यदि बाजार बंद कर भी दें तो उसका कोई फायदा नहीं होता। - नरेश माहरा, दुकानदार किसी भी मुद्दे पर भारत बंद का समर्थन नहीं करता हूं। महंगाई और विकास एक सिक्के के दो पहलू हैं जो साथ चलते है। समय के साथ बढ़ती महंगाई में कोई खास वृद्धि नहीं हुई है।

- नंदू भट्ट, स्थानीय निवासी। महंगाई का विरोध करता हूं लेकिन भारत बंद करना कोई उपाय नहीं है। महंगाई को नियंत्रित करने के लिए ठोस नीति बननी चाहिए। ताकि आम लोगों की जेबों पर ज्यादा प्रभाव न पड़े।

- चंद्रशेखर पांडेय, स्थानीय निवासी।

Posted By: Jagran