संवाद सहयोगी, चम्पावत : पेट्रोल, डीजल की बढ़ी कीमतों व महंगाई के विरोध में विपक्षी दलों ने सोमवार को भारत बंद का ऐलान किया था। लेकिन जनपद में भारत बंद का असर देखने को नहीं मिला। यहां चारों ब्लॉकों में व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान खुले रखे। जबकि जिले में कांग्रेस व सपा ने भारत बंद को समर्थन दिया लेकिन उनका भारत बंद का आवाहन विफल रहा।

चम्पावत में भारत बंद का कोई असर देखने को नहीं मिला। नगर का मोटर स्टेशन स्थित मुख्य बाजार व शांत बाजार सहित ग्रामीण क्षेत्रों में दुकाने खुली रही। लोहाघाट में भी नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में भारत बंद कोई असर देखने को नहीं मिला। रोज की भांति सुबह से बाजार में लोगों की आवाजाही लगी रही। स्कूल कालेज व सरकारी कार्यालय खुले रहे। सभी संस्थानों में दिन भर कार्य हुए। व्यापारियों का कहना था कि रविवार को लोहाघाट व चम्पावत में बाजार बंद रहता है और सोमवार को भी बाजार बंद कर देंगे तो व्यापार पर बुरा असर पड़ेगा। टनकपुर, बनबसा में भी बाजार रोज की तहर खुले रहे। सभी व्यापारी अपने प्रतिष्ठानों में अपने-अपने कार्य में मसरूख रहे। रविवार को बाजार बंद रहने के कारण व्यापारी महंगाई के विरोध में सोमवार को भारत बंद में अपना समर्थन नहीं दे पाए। जिसके चलते जनपद में भाजपा सरकार के खिलाफ जुलूस निकाल पुलता दहन करने का निर्णय लिया गया। - उत्तम सिंह देऊ, कांग्रेस जिला अध्यक्ष।

Posted By: Jagran