देवीधुरा के मां वाराही मंदिर में हुई विशेष पूजा-अर्चना

संवाद सहयोगी, लोहाघाट : देवीधुरा के मां वाराही मंदिर में बुधवार की सुबह से ही दूरदराज से श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। पूरे दिन मंदिर की गुफा में विराजमान आदि शक्ति के दर्शनों के लिए लंबी कतार लगी रही। लोग घंटों तक अपनी बारी की प्रतीक्षा करते रहे। पीठाचार्य भुवन चंद्र जोशी व कीर्ति बल्लभ शास्त्री ने पूजा अर्चना कर प्रसाद वितरित किया। कई श्रद्धालुओं ने खोलीखांड़ मैदान में स्थित प्राचीन वीर शिला में बने छिद्र से प्रवेश कर मन्नत मांगी। दूरदराज ग्रामीण क्षेत्रों से पहुंचे लोगों ने मेले में खरीदारी की। यहां बाहरी क्षेत्रों के व्यापारियों के अलावा स्थानीय लोगों ने दुकानें सजाई है। दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों से हर दिन बड़ी संख्या में लोग मेले में पहुंच कर खरीदारी कर रहे हैं। इससे व्यापारियों में खुशी का माहौल है। खटीमा, सितारगंज, बरेली, मुरादाबाद, पीलीभीत, रुद्रपुर, हल्द्वानी, रामपुर, हल्द्वानी आदि क्षेत्रों से आए व्यापारी प्रकाश चौहान, दिनेश, हारून, उस्मान, आशिफ आदि ने बताया कि भीड़-भाड़ के कारण मेले में रौनक बनी हुई है। ====== अव्वल रहे प्रतिभागियों को किया सम्मानित लोहाघाट : देवीधुरा मेले में वालीबाल ओपन स्तरीय प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले में लोहाघाट ने चम्पावत को हरा कर ट्राफी पर कब्जा जमाया। सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में योगेश जोशी मेमोरियल पब्लिक स्कूल पहले, सरस्वती शिशु मंदिर देवीधुरा दूसरे और कन्या जूनियर हाईस्कूल देवीधुरा तीसरे स्थान पर रहे। ओपन प्रतियोगिता में डिग्री कालेज देवीधुरा, अर्जुन डिफेंस एकेडमी और हाल आफ फाइव्स नवोदय पहले तीन स्थानों पर रहे। निर्णायक भूमिका बद्री सिंह व किरन पंगरिया ने निभाई। प्रतियोगिता में अव्वल रहे प्रतिभागियों को मंदिर समिति ने पुरस्कृत कर सम्मानित किया। कुदन राम, गोपाल पंतोला, प्रकाश मेहरा, ईश्वर बिष्ट, मनोज कठायत, रविंद्र जोशी, विक्रम कठायत, संजय, दीपक बिष्ट, हरीश चंद्र आदि ने सहयोग किया।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट