संवाद सहयोगी, टनकपुर (चम्पावत): मां पूर्णागिरि धाम दर्शन के लिए परिवार संग आए अलीगढ़ के युवक की हार्ट अटैक से मौत हो गई। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। दोपहर बाद परिजन यहां पहुंचे और शव साथ ले गए।

उत्तर प्रदेश के कस्बा गंगीरी, तहसील अतरौली, अलीगढ़ निवासी पंकज वैष्णव (38) पुत्र सुभाष चंद्र परिवार के साथ मां पूर्णागिरि धाम के दर्शन को आए थे। मंगलवार को मां के दर्शन के बाद रात्रि में वह टनकपुर के पंचमुखी धर्मशाला में आराम करने के लिए रुक गए। बुधवार सुबह करीब नौ बजे पंकज पत्‍‌नी दीपा व दो बच्चों अंतरा व वैभव के साथ पास ही शारदा नदी में स्नान करने गए थे। इस बीच उन्हें याद आया कि उनका मोबाइल पंचमुखी धर्मशाला में चार्जिग प्वाइंट पर ही लगा रह गय है। वह अकेले ही मोबाइल लेने पंचमुखी की सीढि़यों से आ रहे थे। तभी अचानक वह सीढि़यों के पास गिर पड़े। वहां पर मौजूद सफाई कर्मियों ने उन्हें संयुक्त चिकित्सालय टनकपुर में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। काफी देर तक मोबाइल लेकर न लौटने पर परिजन भी नदी से वापस आकर उन्हें खोजने लगे। धर्मशाला से मिली सूचना पर जब पत्‍‌नी व बच्चे अस्पताल पहुंचे तो पंकज उन सभी को छोड़कर जा चुके थे। दोपहर बाद अलीगढ़ से पिता व भाइयों के आने पर पुलिस ने शव उनके सुपुर्द कर दिया। पंकज की आर्टिफिशियल ज्वेलरी की शॉप थी। वह चार भाइयों में तीसरे नंबर का था।

========

आठ साल से आ रहे थे मां के धाम

पंकज पिछले आठ सालों से मां पूर्णागिरि धाम के दर्शन को परिवार के साथ आ रहे थे। परिजनों ने बताया कि जब इनकी पुत्री तीन वर्ष की थी तबसे मां के धाम के दर्शन को आ रहे है। वह इस बार भी ट्रेन से मां पूर्णागिरि के दर्शन के लिए आए थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस