संवाद सहयोगी, लोहाघाट : बाराकोट ब्लाक के अतंर्गत गल्लागांव देवलीमाफी मोटर मार्ग की दुर्दशा को लेकर ग्रामीणों ने बुधवार को गांव के सार्वजनिक स्थान पर प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। ग्रामीणों ने चेतावनी दी कि अगर शीघ्र सड़क के सुधारीकरण का कार्य शुरू नहीं किया तो ग्रामीण विधान सभा चुनाव का बहिष्कार करेंगे।

सामाजिक कार्यकर्ता गोविंद तिवारी के नेतृत्व में एकत्रित हुए ग्रामीणों ने कहा कि अब सड़क की दुर्दशा को लेकर ग्रामीण एकजुट हो गए हैं। ग्रामीणों ने इस बदहाल सड़क को चुनावी मुद्दा बनाने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया। ग्रामीणों ने रोड नहीं तो वोट नहीं का नारा लगाते हुए विधान सभा चुनाव में वोट का बहिष्कार करने का मन बनाया है। ग्रामीणों के इस इस संघर्ष में नौमना, तड़ीगांव, डोबाभागू, बैड़ाओड़, ढड़ीगांव, सिमलटुकरा, बरम, बसोड़ी, सेरी कनियाना, पाडासों सेरा गाव के ग्रामीणों का भी सहयोग मिल रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि गाव की सड़क राजनीतिक भेंट का शिकार हो गई है। वषरें से सड़क निर्माण के लिए ग्रामीणों द्वारा प्रयास किया जाता रहा है। सड़क में जगह जगह डामर उखड़ा हुआ है। नालियों का पानी सड़कों में बह रहा है। इससे जलजमाव रहता है। राहगीरों को पैदल चलने में काफी परेशानी झेलनी पड़ती है। सड़क खराब रहने से मरीजों को अस्पताल तक पहुंचाने में भारी फजीहत होती है। खासकर गर्भवती महिलाओं को इलाज के लिए ले जाने में दिक्कत होती है। इस दौरान संजय जोशी, राहुल जोशी, दीपक तिवारी, बब्लू तिवारी, शंकर राम, निर्मल कुमार, सुरेश राम, हरीश राम, संजय कुमार, नरेश कुमार, मुकेश कुमार, निर्मल, बीना देवी, दुर्गा देवी, भास्कर आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran