जागरण टीम, चम्पावत/लोहाघाट/टनकपुर : रमजान के पाक महीने के समापन पर शुक्रवार को जनपद में ईद-उल-फितर का त्योहार मुस्लिम समाज के लोगों ने बड़ी सादगी एवं सामाजिक दूरी का पालन करते हुए घरों में ही रहकर मनाया। रोजेदारों ने घरों में नमाज अता कर देश में शांति अमनचैन के साथ कोविड महामारी के खात्मे की दुआ मांगी। टनकपुर में नई व पुरानी जामा मस्जिद, मनिहारगोठ स्थित मस्जिद, लोहाघाट के कोलीढेक मस्जिद में हाफिज मोहम्मद शाकीर, स्टेशन बाजार में हाफिज जियाउल मुस्तफा, खूना मलक में अबरार हुसैन ने शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए पांच लोगों संग ईद की नमाज अता की। राजेदारों ने विश्व से कोरोना संक्रमण से निजात दिलाने के लिए दुआ मांगी। वहीं अन्य लोगों ने क‌र्फ्यू के चलते घरों में ईद की नमाज पढ़ी और परिवार के साथ ईद का पर्व मनाया। कोरोना महामारी के चलते लोग एक दूसरे के घर भी जाने से बचे। बच्चों ने भी गले मिलकर ईद की बधाई दी। मोबाइल फोन पर ही एक दूसरे को ईद की मुबारक देने के साथ उनके परिवार के लिए लोगों को मुबारकबाद दी। घरों में मीठे पकवान बनाए गए। बच्चों में काफी उत्साह देखने को मिला। प्रशासन एवं पुलिस की तरफ से ईद को लेकर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। थानाध्यक्ष मनीष खत्री के नेतृत्व पुलिस कर्मियों ने मस्जिदों का निरीक्षण किया। ========= सीमांत जिले में सादगी से मनाई गई ईद

पिथौरागढ़: कोरोना संकट के चलते सीमांत जिले में ईद सादगी से मनाई गई। ईदगाह मैदान में पांच लोगों ने ईद की नमाज अदा कर कोरोना से मुक्ति के लिए दुआ मांगी।

जामा मस्जिद के काजी-ए-शहर मुफ्ती एवं इमाम इरशाद हुसैन सुहारावर्दी ने ईदगाह मैदान में नमाज अदा करवाई। कोरोना संकट के चलते सीमित संख्या में लोग ईदगाह मैदान पहुंचे। जामा मस्जिद के मुतावल्ली मीर अख्तर अली ने प्रशासन से मिले सहयोग के लिए आभार जताया। अधिकांश लोगों ने घरों में ही नमाज अदा की। घरों में इस वर्ष बड़े आयोजन नहीं हुए। परिवार के बीच ही ईद की खुशियां मनाई गई। तमाम लोगों ने जरू रतमंदों को भोजन, कपड़े आदि वितरित किए। जिले के गंगोलीहाट, थल, बेरीनाग, धारचूला, जौलजीबी आदि क्षेत्रों में भी ईद सादगी से मनाई गई।

Edited By: Jagran