संवाद सहयोगी, चम्पावत : उत्तर प्रदेश से प्रशिक्षित डिप्लोमा विशेषज्ञ चिकित्सकों ने विशेषज्ञ के रुप में कार्य बहिष्कार कर किया है। यूपी के मेडिकल कालेजों में विशेषज्ञ चिकित्सकों के रुप में प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात उत्तराखंड मेडिकल काउंसिल में पंजीकरण न होने के कारण चिकित्सकों ने विशेष चिकित्सकीय कार्य का बहिष्कार कर दिया। जिससे मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा। इस संबंध में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने सोमवार सीएमएस को एक ज्ञापन भी सौंपा।

अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. एचएस ऐरी के नेतृत्व में सीएमएस डॉ. आरके जोशी को सौंपे ज्ञापन में चिकित्सकों का कहना है उत्तराखंड मेडिकल काउंसिल में उनका पंजीकरण न होने के कारण विशेषज्ञ कार्य का बहिष्कार कर रहे हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों की हड़ताल के कारण अस्थि रोग, रेडियोलॉजिस्ट, पेथोलॉजी और नेत्र संबंधी रोगियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। चिकित्सकों ने केवल एमओ का कार्य ही किया। विशेषज्ञ चिकित्सकों का कहना है जब तक उत्तराखंड मेडिकल काउंसिल में उनका रजिस्ट्रेशन नहीं हो जाता है तब तक वे केवल मेडिकल ऑफिसर का ही कार्य करेंगे। ज्ञापन देने वालों में डॉ. हरीश चंद्र त्रिपाठी, डॉ. सुषमा नेगी, डॉ. उदय शकर सहित कई चिकित्सक मौजूद रहे।

Posted By: Jagran