संवाद सहयोगी, लोहाघाट : राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर शिक्षक वर्ग ने तमाम युवाओं से इस बार चुनाव में मतदान करने की अपील की है। शिक्षक वर्ग का मानना है कि केवल वोट बनवाने तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए। इसका मतदान के दिन प्रयोग भी करना चाहिए। नए सभी वोटरों को ईमानदारी के साथ अपने वोट का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।

--

लोकतंत्र में प्रत्येक मतदाता को अपने मताधिकार का प्रयोग करना चाहिए। समस्याओं का हल न होने पर मतदान का बहिष्कार करना कोई विकल्प नहीं है। जरूरत है तो जनता को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक रहने की है। मतदाता जागरूक होगा तो विकास जरूर होगा।

= नरेश जोशी, शिक्षक =========

जनता वोट तो करती है पर अपने अधिकारों को नहीं जानती। वोट देने के बाद मतदाताओं का अधिकार है कि वह अपने चुने हुए प्रतिनिधि से विकास का हक मांगे। विकास न होने पर चुनाव बहिष्कार करना किसी भी हालत में ठीक नहीं है।

- रवीश पचौली, स्वीप नोडल, पाटी ========== लोकतंत्र की मजबूती के लिए अधिक से अधिक मतदान करना जरूरी है। विकास कार्य न होने पर चुनाव बहिष्कार भले ही लोकतांत्रिक अधिकार हो पर इससे समस्या का समाधान होना जरूरी नहीं है। मतदान अवश्य करें।

- विनोद पांडेय, शिक्षक =========

समस्या का समाधान न होने पर चुनाव बहिष्कार करना ठीक नहीं है। एक-एक वोट में सत्ता बदलने की ताकत है। इसलिए मतदाताओं को अपनी वोट की ताकत को पहचानना चाहिए। और मतदान अवश्य करना चाहिए।

- पुष्कर नाथ गोस्वामी, शिक्षक ========= मतदाता दिवस पर मतदान करने का लिया संकल्प

संवाद सहयोगी, लोहाघाट : स्वामी विवेकानंद राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में मंगलवार को राष्ट्रीय मतदाता दिवस विद्यार्थियों ने विधानसभा चुनाव में मतदान करने का संकल्प लिया। प्राचार्य डा. संगीता गुप्ता ने मतदाता दिवस के बारे में विस्तार पूर्व जानकारी देते हुए कहा कि लोकतंत्र को सफल बनाने के लिए सभी निपष्क्ष, निर्भय होकर मतदान करने की अपील की। इस दौरान डा. कमलेश सक्टा, डा. सुमन पांडेय, डा. अर्चना त्रिपाठी,चंद्रा जोशी, कमल थापा, ब्रज मोहन जोशी, प्रेम गिरी, कमल किशन, रवींद्र आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran