संवाद सहयोगी, चम्पावत : प्रशासन ने आगामी मानसून सत्र को चुनौती के रूप में लेते हुए प्रबंधन की तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस संबंध में शुक्रवार को डीएम विनीत तोमर ने जिला सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि कोविड के साथ मानसून भी चुनौती हैं। कहा कि संभावित आपदा मानकर इसके प्रबंधन के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दें।

उन्होंने जिले के सभी हेलीपैड की लोकेशन अपडेट करने तथा आपदा के वक्त रिस्पास टाइम कम से कम करने के निर्देश दिए। कहा कि मानसून सत्र में किसी भी आपदा के दौरान राहत एवं बचाव कार्यों का सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करना सुनिश्चित किया जाए। मानसून के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो इसके लिए तहसील स्तर पर उपलब्ध लाइट सहित आपदा के जरूरी उपकरणों एवं संसाधन का परीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने सेटेलाइट फोन को भी दुरूस्त रखने को कहा। डीएम ने जल संस्थान को पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त होने पर तत्काल अस्थायी व्यवस्था करने ओर सड़क निर्माण की कार्यदायी संस्थाओं को सभी लैंड स्लाइड जोन के आसपास बुलडोजर मशीन, पोकलेन एवं ऑपरेटर की तैनाती करने, तहसीलों में कंट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए। उर्जा निगम, दूर संचार विभाग, जल संस्थान, नगर पालिका एवं नगर पंचायत आदि विभागों के अधिकारियों को भी तैयारी सुनिश्चित करने को कहा। ======== तीन माह का खाद्यान्न एवं ईधन रखें विभाग

चम्पावत : डीएम ने पूर्ति विभाग को मानसून के दौरान तीन माह का खाद्यान्न एवं पर्याप्त ईधन का स्टाक रखने के निर्देश दिए। कहा कि सड़क मार्ग बंद होने की दशा में जिले में खाद्यान्न का संकट नहीं होना चाहिए। ======== बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का रखें विशेष ध्यान

चम्पावत : जिलाधिकारी ने टनकपुर के एसडीएम हिमांशु कफल्टिया को टनकपुर एवं बनबसा में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का विशेष ध्यान रखने को कहा। राहत केंद्रों में राशन के साथ शौचालय, बिजली, पानी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। =====

ये अधिकारी रहे बैठक में मौजूद

बैठक में एडीएम टीएस मर्तोलिया, एसडीएम सदर अनिल गब्र्याल, लोहाघाट के एसडीएम आरसी गौतम, टनकपुर के सीओ अविनाश वर्मा,आरडब्लूडी के ईई केके जोशी, यूपीसीएल के ईई एस के गुप्ता, लोनिवि के ईई एमसी पाडे व सेना के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप