विनोद चतुर्वेदी, चम्पावत

इस बार चम्पावत जिला पंचायत युवा सपने और बुलंद हौंसलों से लबरेज रहेगी। 22 से 50 वर्ष के सदस्य अपने अपने क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते दिखेंगे। पिछले वर्ष तक चुनकर आए सदस्यों की उम्र और अनुभव की बात करें तो दोनों में सम्मिश्रण था लेकिन इस बार युवा जोश त्रिस्तरीय पंचायत के उच्च इकाई में हावी रहेगा।

विकास खंड चम्पावत के भंडार बोरा से चुनकर आई 22 वर्षीय संगीता मेहरा सबसे कम उम्र की सदस्य होंगी तो बनबसा के भजनपुर सीट से चुनकर आए 50 वर्षीय पुष्कर कापड़ी सबसे ज्यादा उम्र के सदस्य होंगे। धुरा सीट से चुनकर आई दीपा जोशी भी 23 वर्ष की उम्र में क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करेंगी। टनकपुर से जीतकर आई 44 वर्षीय किरन देवी, शक्तिपुर बुंगा से विजयी रही 26 वर्षीय सविता बोहरा, बिरगुल से जीतकर आए 42 वर्षीय भूपेंद्र महर में भी युवा जोश के साथ उम्र का अनुभव देखने को मिलेगा। लोहाघाट ब्लाक के पाटन पाटनी सीट से जीतकर आए 28 वर्षीय हरीश राम ब्लाक के सबसे कम उम्र के सदस्य हैं तो मटियानी सीट से चुनकर आए 38 वर्षीय एलएम कुंवर सबसे ज्यादा उम्र के सदस्य हैं। राईंकोट कुंवर सीट से जीतकर आई 25 वर्षीय प्रीति पाठक युवा सदस्यों की फेहरिश्त में शामिल हैं। बाराकोट ब्लाक के रैघांव सीट से जीतकर आई 29 वर्षीय ज्योति राय अपने ब्लाक से सबसे कम उम्र की सदस्य होंगी तो फर्तोला सीट से चुनकर आए 35 वर्षीय सुरेंद्र सामंत सबसे ज्यादा उम्र के सदस्य हैं। इसी प्रकार पाटी ब्लाक की पटनगांव सीट से जीतकर आए 44 वर्षीय प्रह्लाद सिंह अपने ब्लाक में सबसे ज्यादा उम्र के सदस्य हैं तो कानीकोट सीट से चुनकर आई 25 वर्षीय सीमा विश्वकर्मा सबसे कम उम्र की सदस्य होंगी। जनकांडे सीट से चुनकर आए 39 वर्षीय विजय बोहरा, खरही से जीतकर आई 41 वर्षीय रेखा गोस्वामी में युवा और प्रौढ़ का सम्मिश्रण होगा।

::::::::::::

तल्लादेश के विकास की सोच ने दिलवाया मुकाम

चम्वावत: भंडारबोरा सीट से जिला पंचायत सदस्य चुनी गई संगीता बोहरा जिले में सबसे कम उम्र की सदस्य हैं। उन्होंने बताया कि तत्लादेश के विकास की सोच ने उन्हें राजनीति में उतरने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि जनता ने उन्हें विकास के लिए काम करने का अवसर दे दिया है। वह पिछड़े क्षेत्र और गांवों के विकास के लिए काम करेंगी। हमारी युवा सोच क्षेत्र के विकास में काम आएगी। संगीता वर्तमान में एमए प्रथम वर्ष की पढ़ाई भी कर रही हैं।

:::::::::::

राज्यपाल से सम्मानित हो चुकी हैं किरन देवी

चम्पावत : टनकपुर जिला पंचायत सीट से चुनाव जीती किरन देवी सबसे अधिक पढ़ी लिखी सदस्य हैं। बीएससी के साथ उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक्स ट्रेड से पॉलीटेक्निक किया है। राजनीति में लंबे समय से सक्रिय रहने के अलावा उन्होंने अपने प्रसासों से मशरूम उत्पादन केंद्र खोला है। जहां महिलाओं को मशरूम की खेती करने का प्रशिक्षण दिया जाता है। इस प्रयास के लिए उन्हें राज्यपाल की ओर से सम्मानित भी किया जा चुका है। उनकी विकास की यह सोच क्षेत्र के विकास में अहम रोल निभाएगी।

::::::::

बस कंडक्टर रहे हरीश ने पाया जिपं सदस्य का मुकाम

चम्पावत : पाटन-पाटनी सीट से चुनाव जीते हरीश राम चुनाव से पहले एक स्कूल बस के कंडक्टर थे। इससे पूर्व उन्हें राजनीति का कोई अनुभव नहीं था। क्षेत्र और समाज के लिए काम करने की इच्छा उन्हें राजनीति में खींच लाई और पहले ही प्रयास में जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत लिया। हरीश ने बताया कि वह जनता की इच्छा और अपेक्षाओं पर खरा उतरने का प्रयास करेंगे।

::::::::::::

पति की राजनीतिक पृष्ठभूमि का ज्योति को मिला लाभ

चम्पावत: रैघांव सीट से चुनाव जीतकर आई ज्योति राय को पति प्रकाश राय की राजनीतिक पृष्ठभूमि ने जिला पंचायत सदस्य बनने का अवसर प्रदान किया। उनके पति प्रकाश राय ग्राम प्रधान रहने के साथ भाजपा के विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके हैं। चुनाव जीतने के बाद अब वह जिला पंचायत अध्यक्ष पद की प्रबल दावेदार भी मानी जा रही हैं। उन्होंने बताया कि वह पूरी ईमानदारी के साथ क्षेत्र और जिले की सेवा करने को तैयार हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप