चम्पावत, जेएनएन : रविवार सुबह हुई बारिश के कारण चम्पावत-टनकपुर हाईवे पर विभिन्न स्थानों पर मलबा आने और गाद बहने से दिन में कई बार जाम लग गया। अमरूबैंड के पास मलबे के साथ गिरे भारी भरकम बोल्डर हटाने में कार्यदायी संस्था को एक घंटे से अधिक का समय लग गया। इस दौरान रास्ते में फंसे यात्रियों को कई दुश्वारियां झेलनी पड़ीं। भारी बारिश के कारण जिले की छह आंतरिक सड़कें भी बंद हो गई। तीन सड़कों को शाम तक आवागमन के लिए सुचारू कर दिया गया था। जबकि तीन सड़कें देर शाम तक नहीं खोली जा सकी थीं।

सुबह 6:05 बजे अमरूबैंड के पास चट्टान का एक बड़ा हिस्सा खिसक कर सड़क पर आ गया। मलबे के साथ आए भारी भरकम बोल्डरों के कारण लंबा जाम लगा। मशक्कत के बाद 7:10 बजे के करीब सड़क को आवागमन के लिए सुचारू किया जा सका। इसके अलावा धौन, सूखीढांग, चल्थी, अमरूबैंड आदि स्थानों पर भी कमोवेश मलबा गिरता रहा। मलबा आने और पेड़ गिरने से अमोड़ी-छतकोट, द्यूरी-भगेड़ी, सूखीढांग-डांडामीनार, ककरालीगेट-ठूलीगाड़, धौन-द्यूरी सड़कें भी बंद हो गईं। इनमें से सूखीढांग-डांडामीनार, ककरालीगेट-ठूलीगाड़ और धौन-द्यूरी सड़कों को दोपहर बाद खोल दिया गया था। एडीएम टीएस मर्तोलिया ने बताया कि एनएच एवं ऑलवेदर रोड का निर्माण कर रही कार्यदायी संस्था को संवेदनशील स्थानों पर जेसीबी मशीनें तैनात रखने और अत्यधिक बारिश की दशा में वाहनों को सुरक्षित स्थानों पर रोकने के निर्देश दिए गए हैं।

---------------

बारिश से हुआ जलभराव, कई घरों में घुसा पानी

मूसलाधार बारिश से चम्पावत, लोहाघाट नगरों समेत ग्रामीण इलाकों में कई जगह जलभराव की नौबत आ गई। नालियां चोक होने से चम्पावत बाजार क्षेत्र के अलावा तल्ली और मल्ली मादली में कई जगह पानी घरों में घुस गया। लोहाघाट टैक्सी स्टैंड में मीना बाजार से पानी के साथ बहकर आया कूड़ा कचरा जमा हो गया।

--------------------

आइटीबीपी कैंपस के मुख्य गेट में नहीं बनी नाली

लोहाघाट : नगर के छमनियां स्थित आइटीबीपी कैंप परिसर के मुख्यगेट पर नाली बंद होने से सारा पानी सड़क पर आ गया। इस स्थान पर हाल ही में लोनिवि ने नाली निर्माण किया था, लेकिन गेट के पास पांच मीटर के एरिया में नाली न खोदने से पानी सड़क से होते हुए आवासीय मकानों में घुस रहा है। स्थानीय लोगों ने शीघ्र नाली निर्माण करने की मांग की है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप