जागरण संवाददाता, चम्पावत : बरसात के समय किसी भी तरह की बिमारिया न फैले इसके लिए सभी पेयजल टैंकों में क्लोरीन, ब्लीचिंग का प्रतिदिन प्रयोग करने के साथ उसके फोटोग्राफ भी प्रेषित करें। यह निर्देश मंगलवार को अपने कार्यालय कक्ष में जल संस्थान, जल निगम, स्वजल की बैठक लेते हुए जिलाधिकारी एसएन पाडे ने दिए। उन्होंने जल संस्थान को विशेष सावधानी बरतने, स्त्रोतों का कंजरवेशन प्रारंभ करने, चम्पावत नगर योजना में फिल्टर स्थापित करने हेतु टेंडर प्रक्रिया प्रारंभ कर अक्टूबर तक कार्य पूर्ण करने, काडा श्यामलाताल योजना को 15 सितंबर, देवीधुरा योजना के समस्त सिविल कार्यो को एवं मछियाड़ भंडारी योजना को 30 सितंबर तक पूर्ण करने के निर्देश बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि हैंडपंप एवं अन्य योजनाओं को 50 प्रतिशत ईई और 100 प्रतिशत एई/जेई चैक करें। ईई जल संस्थान ने बताया कि जनपद में 767 हैंडपंप स्थापित है जिसमें से छह हैंडपंप खराब चल रहे है। डीएम ने मॉ पूर्णागिरि लिफ्ट पेयजल योजना को प्राथमिकता में रखने तथा टनकपुर व चम्पावत सीवरेज निर्माण हेतु प्रथम चरण का प्रस्ताव बनाने तथा कोरा पेयजल योजना में धनराशि आवंटन हेतु औचित्यपूर्ण प्रस्ताव शासन को भेजने के निर्देश दिए।

बैठक में सीडीओ एसएस बिष्ट, परियोजना निदेशक एचजी भट्ट, ईई जल संस्थान अशोक कुमार, अधिशासी अभियंता एवं सहायक अभियंता जल निगम, जेई स्वजल आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप