संवाद सहयोगी, लोहाघाट: बाराकोट विकास खंड के बौतड़ी रामेश्वर मंदिर के समीप नंदी में नहाने गए 11 वर्षीय बच्चा नदी में डूब गया। परिजनों की काफी खोजबीन करने के बाद भी नहीं मिल पाया। सूचना के बाद मौके में एसआई अरविंद के नेतृत्व में पहुंची पुलिस टीम ने अभियान चलाया लेकिन नहीं मिल पाया। टनकपुर से गोताखोर बुलाए गए है।

बौतड़ी निवासी ललित कुमार 11 पुत्र राजेंद्र कुमार नदी में अपने दो दोस्तों के साथ नहाने गया हुआ था। नहाते समय नदी में डूब गया। इसकी सूचना पुलिस टीम दलबल के साथ मौके में पहुंचकर रेस्क्यू किया गया। लेकिन वह नहीं मिल पाया। ग्रामीणों ने आक्रोशित होकर अल्मोड़ा पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग जाम लगा कर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का कहना था कि इतनी बड़ी घटना के बाद प्रशासन की ओर से कोई नही पहुंचा। जिसके चलते राष्ट्रीय राजमार्ग में धरना प्रदर्शन करना पड़ा। इधर एसडीएम आरसी गौतम का कहना है कि घटना कि जानकारी मिलते ही घटना स्थल की ओर रवाना हो गए है।

-------

आज बड़ी बहन की होनी थी मेंहदी की रस्म

- शादी की रस्म बदली मातम में गांव में पसरा सन्नाटा

फोटो: 10 एलजीटी पी 3,4

लोहाघाट: बाराकोट विकास खंड बौतड़ी गांव के एक बच्चे की रामेश्वर नदी में डूबने की खबर मिलते ही गांव में सन्नाटा छा गया। जहां पूरा परिवार सहित गांव में कोहराम मचा हुआ है। गुरुवार के दिन में हुई इस घटना की जानकारी पिता को नहीं थी। ग्रामीणों ने बताया गुरुवार को बच्चे की बड़ी बहन की मेंहदी की रस्म होनी थी। शुक्रवार को पिथौरागढ़ से बारात आने वाली थी। यह सब नियति के खेल को तो मंजूर नही था। तो यह सब करे का धरा ही रह गया।

पूरा परिवार व रिश्तेदार गांव के लोग शादी की तैयारी में जुटे हुए थे। पिता राजेंद्र कुमार पिथौरागढ़ शादी का सामान लेने गए हुए थे। पूरा परिवार जश्न की तैयारी में जुटा हुआ था। सभी अपने अपने रंगों में रंगे हुए थे। इतने में तो मनहूस खबर मिली की ललित नदी में डूब गया है। पूरी तैयारियां में रंग में भंग हो गया। गांव के लोगों सहित नाते रिश्तेदार ने नदी की ओर दौड़ लगाई। पूरे गांव में जहां सारे लोग शादी की तैयारियों में जुटे हुए थे। उसी गांव में एक शादी की रस्म चल रही थी। घटना की खबर मिलते ही पूरे गांव में मातम पसर गया। दूर दराज क्षेत्रों से मेहमान पहुंचे हुए थे। ग्रामीणों ने बताया कि ललित पांच बहनों का अकेला भाई था। वह अपने दो दोस्तों के साथ नदी में नहाने गया हुआ था। बच्चा राजकीय इंटर कालेज दूबोला में कक्षा छह में पड़ता है।

राम गंगा में अवैध खनन जोरों पर, प्रशासन ने साधा मौन लोहाघाट: बाराकोट विकास खंड के घाट के पास रामगंगा नदी में अवैध खनन का कारोबार जोरों पर चल रहा है। अवैध रूप से खनन करने वाले माफिया धडल्ले से नदी का सीना चीरने को कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे है। इतना कुछ होने के बाद भी पुलिस, प्रशासन इस ओर ध्यान देने की जहमत तक नहीं उठा रहा है। जिससे अवैध खनन करने वालों की जमकर चांदी कट रही है। ग्रामीणों का कहना है कि राष्ट्रीय राजमार्ग में घाट चौकी से लगभग दो किमी दूर राम गंगा नदी में सफेद सोने का काला कारोबार चल रहा है। दिनभर खनन करने वाले रेता के ढेर लगाते है। और रात के सन्नाटे में उसे ठिकाना लगाया जाता है। इतना कुछ होने के बाद भी पुलिस प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। जिस कारण पुलिस प्रशासन पर भी सवालियां निशान लगने लगे है। इधर पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाई नहीं करने से खनन माफियाओं के हौसले बुलंद होते जा रहे है। वहीं सरकार को भी इससे लाखों रुपये के राजस्व का चूना लग रहा है। मामले को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश बढ़ गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप