देवाल, चमोली[जेएनएन]: चमोली जिले के कुमाऊं सीमा से सटे देवाल विकासखंड में दूरस्थ गांव बलाण 18 साल बाद भी मोटर मार्ग से नहीं जुड़ सका है। ग्रामीणों को मुख्य बाजार पहुंचने के लिए आठ किलोमीटर की पैदल दूरी नापनी पड़ती है, जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों ने जल्द मोटर मार्ग बनाने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा है।

ज्ञापन में ग्रामीण प्रताप सिंह, प्रधान केदार सिंह और राम सिंह ने कहा है कि एक ओर घेस को डिजीटल गांव बनाने की बात कही जा रही है, वहीं घेस-हिमनी-बलाण मोटर मार्ग पर 18 वर्ष बीत जाने के बाद कार्य अधर में लटका हुआ है, जिससे यहां बसासत 1200 से अधिक परिवारों को आवश्यक वस्तुओं के लिए 10 किलोमीटर की पैदल दौड़ लगानी पड़ रही है। कहा कि आजादी के सत्तर साल बाद भी ग्रामीण सड़क सुविधा सहित बिजली व संचार सेवा से अछूते हैं। 

लंबित मोटर मार्ग 8 किमी के कार्य में कालीताल में पुल तैयार करने वाले ठेकेदार पर लेटलतीफी का आरोप लगाते हुए कहा गया है कि पुल ऐबेडमेंट से 300 मीटर तक कार्य सेतु निर्माण करने वाले ठेकेदार को करना है, लेकिन संबधित ठेकेदार ने कार्य अधर में छोड़ दिया है, जिससे नौनिहाल स्कूल जाने के लिए 8 किमी पैदल चलने को मजबूर हैं। यही नहीं, बीमार बुजुर्ग व महिलाओं को ग्रामीण किसी तरह डंडी-कंडी से सड़क तक पहुंचा रहे हैं। 

यह भी पढ़ें: दो गांवों के बीच सड़क को लेकर छिड़ी वर्चस्व की जंग

यह भी पढ़ें: ग्लोगी परियोजना के बंद होने से दून में बढ़ा बिजली का संकट

यह भी पढ़ें: सिल्ट ने थामी टरबाइनों की रफ्तार, उपभोक्ताओं पर बिजली कटौती की मार

Posted By: Raksha Panthari