कर्णप्रयाग में दो दिन से बंद बदरीनाथ हाईवे पर आवाजाही शुरू

संवाद सहयोगी, कर्णप्रयाग : कर्णप्रयाग में दो दिन से बंद बदरीनाथ हाईवे पर शुक्रवार सुबह आठ बजे से बड़े वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। इससे राहगीरों ने राहत की सांस ली। कर्णप्रयाग में गांधीनगर के पास राजमार्ग की दीवार ढह जाने से हाईवे अवरूद्ध हो गया था। एनएच के अभियंता अंकित कुमार ने बताया मंगलवार को वर्षा के चलते हुए भूस्खलन से बदरीनाथ हाईवे कर्णप्रयाग से नंदप्रयाग तक कई स्थानों पर अवरूद्ध हो गया था। गांधीनगर में निर्माण करने में वर्षा लगातार बाधक बनी थी। उन्होंने बताया की साथ ही हाईवे पर टूटी दीवार निर्माण का काम जारी है। स्थानीय निवासी हरीश चंद्र, राजेन्द्र सिह ने कहा एनएच की लापरवाही अब वर्षाकाल में स्थानीय निवासियों के लिए सिरदर्द बनी है। कई स्थानों पर पहाड़ी की अधूरी कटिंग, अधूरी दीवार निर्माण, निकासी नाली तैयार ना होने और पहाड़ी को भीतर तक खोदने से अब भूस्खलन से मार्ग धस रहे है। बीते बुधवार को गांधीनगर के पास मार्ग धस जाने से हाईवे को तीस मीटर हिस्सा क्षतिग्रस्त होने से दो दिनों तक हाईवे बाधित रहा। हाईवे के समीप बने भवन खतरे की जद में है। ------------------------- तीन घंटे खचड़ानाला में हाईवे बंद रहा संवाद सहयोगी, गोपेश्वर : चमोली जिले में रात्रि को हो रही वर्षा आम जनों के लिए परेशानी का सबब बनी है। वहीं यात्रा मार्ग भी रात्रि को भूस्खलन से बाधित हो रहे हैं। शुक्रवार को तीन घंटे खचड़ानाला में बदरीनाथ हाईवे बंद रहा। गुरुवार की रात्रि को हुई वर्षा से लामबगड़ खचड़ानाला भूस्खलन से बंद हो गया था। तड़के हाईवे खोलने का काम शुरु हुआ। आठ बजे हाईवे को सुचारु कर दिया गया। हाईवे बंद होने के बाद बदरीनाथ जाने वाले यात्री वाहनों की कतार लगी। जिले में वर्षा से 55 ग्रामीण सड़कें बंद थी। दिनभर मशक्कत के बाद 26 सड़कें सुचारु कर दी गई। ---------------------------- चमोली जिले में यात्रा की स्थिति बदरीनाथ हाईवे सुचारु फूलों की घाटी यात्रा मार्ग सुचारु तड़के कुल बंद ग्रामीण मोटर मार्ग - 55 दिनभर में खुले ग्रामीण मोटर मार्ग- 26 अभी भी बंद ग्रामीण मोटर मार्ग - 29

Edited By: Jagran