संवाद सूत्र, देवाल: सैनिक बाहुल्य गांव सवाड़ में 12वां अमर शहीद सैनिक मेले का उद्घाटन सैनिक कल्याण बोर्ड उपाध्यक्ष व मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि सीपी नौटियाल ने प्रथम विश्व युद्ध के 22 सैनिकों को शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि देकर किया।

दो दिवसीय अमर शहीद मेले का उद्घाटन करते हुए सीपी नौटियाल ने कहा कि सवाड़ का अपना गौरवमयी इतिहास है और गांव के लोगों ने हमेशा देश की रक्षा के लिए पहला कदम बढ़ाया है। मेला संस्थापक इंद्र सिंह बिहारी ने गांव के सैन्य इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उत्तराखंड के चमोली स्थित दूरस्थ देवाल विकासखंड में सवाड़ ऐसा गांव है जहां के युवा देश सेवा में अपनी कुर्बानी देने के लिए सदैव तैयार रहते हैं। मेला संस्थापक सदस्यों ने कहा कि सरकार ने मेले को गोद लेने व 2017 में प्रदेश मुख्यमंत्री ने सवाड़ गांव में केन्द्रीय विद्यालय की घोषणा की थी जो आज तक पूरी नही हो सकी है। देवाल-सवाड़ मोटर चौड़ीकरण व आरटीओ से स्वीकृत करने की मांग भी रखी। मेला कमेटी ने हर वर्ष गांव में बेहत्तर कार्यो के लिए विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने के लिए प्रताप सिंह खत्री, महिला मंगल दल अध्यक्ष वसंती मेहरा, छात्र यशवंत सिंह बिष्ट, कल्पना मेहरा को सम्मानित किया गया। ग्राम प्रधान कंचना मेहरा ने सवाड़ के शहीदों को याद कर कहा कि उनके गांव में देशभक्ति का जज्बा भरा है और आज भी युवा सेना में भर्ती को तैयार है। इस मौके पर मेला मंच के माध्यम से क्षेत्र की समस्याओं को रखा। जिला पंचायत सदस्य आशा धपोला ने अगले वर्ष से मेले को सरकार से गोद लेने के साथ मेले को सैनिक कल्याण के माध्यम से संचालित की मांग उठाई। राइंका सवाण के छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति में देशभक्ति व महिला मंगल दल ने लोकगीतों की मनमोहक प्रस्तुति मेले में दी। इस मौके पर मेला कमेटी के अध्यक्ष कंचना मेहरा, संस्थापक इंद्र सिंह, उपाध्यक्ष सोहन सिंह खत्री, त्रिलोक सिंह, महिपाल सिंह, धन सिंह धपोला, दीक्षा मेहरा, प्रदीप बिष्ट, दर्शन धपोला, हरपाल आर्य, सुरेन्द्र बिष्ट, सोबन सिंह, दीपा भारती, गणेश शाह, नंदन गडिया, नरेन्द्र भारती, केडी मिश्रा, आलम बिष्ट, शीतल गडिया, दर्शन मेहरा, देवकी देवी, राम सिंह राणा, गिरीश मेहरा आदि मौजूद थे। मेले में पशुपालन, स्वास्थ्य, कृषि, उद्यान, आंगनबाड़ी व सैनिक कल्याण बोर्ड के लगे स्टालों पर मेलार्थियों ने सरकारी योजनाओं का लाभ लिया। शनिवार को रात्रि सांस्कृतिक संध्या में विभिन्न शिक्षण संस्थाओं के कलाकार, लोकगायक किशन दानू, हेमा करासी व सांस्कृतिक कला मंच के कार्यक्रम होंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस