उफनाते नाले, नदियों को पार कर स्कूल पहुंच रहे नौनिहाल

संवाद सहयोगी, गोपेश्वर : चमोली जिले में मानसून की वर्षा आफत का सबब बनी हुई है। आए दिन भूस्खलन, सड़क व पैदल रास्तों के बाधित होने से जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त है। ऐसी स्थिति में ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थी उफनते नाले व नदियों को पार कर स्कूल पहुंचने को मजबूर हैं। जिले में अधिकत्तर प्राथमिक विद्यालय, जूनियर, हाईस्कूल व इंटर कालेज गांव से हटकर हैं। इन विद्यालयों में आस-पास के गांवों के छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं। इनमें से कई छात्र-छात्राएं तो ऐसे भी हैं जो प्रतिदिन तकरीबन पांच किमी तक की दौड़ लगाकर विद्यालय तक पहुंचते हैं। अभी हालत यह है कि उफनते नालों, पथरीले चट्टानी मार्गों को पार कर छात्र-छात्राएं विद्यालय तक पहुंच रही है। ऐसे में यह सफर उनके लिए बेहद खतरनाक है। चमोली जिले की लाइफ लाइन कहे जाने वाले जिला पंचायत के 200 पैदल मार्ग, ग्राम पंचायत व क्षेत्र पंचायत व लोनिवि के 300 से अधिक पैदल मार्ग अब क्षतिग्रस्त हुए हैं। इन मार्गों की मरम्मत होगी, कब होगी यह भी तय नहीं है। हालांकि प्रशासन आपदा मद में क्षतिग्रस्त रास्तों के मरम्मत के लिए कार्य योजना बना रहा है। ---------------------- ग्रामीण सड़कों की हालत खराब चमोली जिले में वर्षा से प्रतिदिन 50 से अधिक ग्रामीण मोटर मार्गों के क्षतिग्रस्त होने की सूचनाएं दर्ज हो रही है। हालांकि गुरुवार शाम तक 20 से अधिक मोटर मार्ग खुल भी रहे हैं। लेकिन जिस प्रकार वर्षा रात्रि भर हो रही है उससे ग्रामीण जन जीवन अस्त-वस्त है। ------------------------------ चमोली जिले में कुल मार्गों की स्थिति राष्ट्रीयय मार्ग - तीन राजमार्ग - 13 मुख्य जिला मार्ग - 10 अन्य जिला मार्ग - 31 ग्रामीण मोटर मार्ग - 152 सुबह कुल बंद ग्रामीण मोटर मार्ग - 64 दिनभर में खुले ग्रामीण मोटर मार्ग-17 ---------------------------- बंद सड़कों को खोलने के लिए त्वरित कार्रवाई की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में टूटे पैदल मार्गों की स्थिति संबंधित विभागों से मांगी गई है। नंद किशोर जोशी आपदा प्रबधंन अधिकारी ------------------------- भारी वर्षा व पैदल मार्ग बंद होने पर अभिभावकों से संपर्क कर ही बच्चों को विद्यालय भेजने के लिए कहा गया है। साथ ही स्वजन पैदल क्षतिग्रस्त मार्गों पर बच्चों के आवाजाही के लिए साथ में आए । वहीं विद्यालय में प्रार्थना स्थल पर छात्रों को आपदा से निपटने के गुर व जानकारी दी जा रही है। कुलदीप गैरोला, मुख्य शिक्षा अधिकारी

Edited By: Jagran