संवाद सहयोगी, गोपेश्वर

स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा देने तथा उनकी अच्छी ब्रांडिग व पैकेजिग के लिए प्रशासन के प्रयासों से गोपेश्वर में नैनो पैकेजिग यूनिट शुरू हो गई है। राजकीय सामुदायिक फल संरक्षण एवं प्रशिक्षण केंद्र में जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी ने नैनो पैकेजिग यूनिट का उद्घाटन किया। इस यूनिट के शुरू होने से जहां ग्राहकों को अच्छी ब्रांडिग व पैकिग के साथ स्थानीय उत्पाद उपलब्ध होंगे वहीं काश्तकारों को उनके उत्पादों से अच्छी आजीविका अíजत होगी।

जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि यहां पर काश्तकार जो भी उत्पाद उगाते हैं और तैयार करते हैं उनकी पैकेजिग अच्छी न होने के कारण काश्तकारों को बाजार में अच्छे दाम नहीं मिलते हैं। इसको देखते हुए यहां पर नैनो पैकेजिग यूनिट शुरू की गई है। कोई भी काश्तकार यहां पर अपने उत्पादों की पैकेजिग करा सकते हैं। ताकि उनको अपने उत्पादों के अच्छे दाम मिल सके और उनकी आर्थिकी मजबूत हो सके। उन्होंने कहा कि इस यूनिट में सभी काश्तकारों को न्यूनतम सामुदायिक दरों पर स्थानीय उत्पादों की पैकेजिग की सुविधा रहेगी। कोई भी काश्तकार स्थानीय दालें, जैम, जैली, आचार, मुरब्बा, जूस आदि उत्पादों की पैकेजिग करा सकते है। बताया कि अच्छी ब्रांडिग व पैकेजिग से निश्चित रूप से काश्तकारों को अच्छे दाम मिलने से फायदा होगा और ग्राहकों को भी शुद्ध खाद्य सामग्री मिलेगी। जिलाधिकारी ने नैनो पैकेजिग यूनिट में लगे हैंड सीलिग मशीन, फायल सीलर, ड्राई इंक कोडिग मशीन, वेप बिलिग, इलेक्ट्रिक वेट मशीन, बैंड सीलर मशीन का निरीक्षण भी किया। उन्होंने महिलाओं को भी पैकिग मशीनों पर उत्पादों की पैकेजिग का प्रशिक्षण देने को कहा। जिलाधिकारी ने केन्द्र में फलों एवं सब्जियों से आचार, मुरब्बा, जैम, जैली, चटनी आदि प्रोडेक्ट तैयार करने के लिए दिए जा रहे सात दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन पर 50 महिलाओं को प्रशस्ति पत्र भी दिए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस