गोपेश्वर, जेएनएन। भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाला नीती हाइवे गमशाली से आगे भारी बर्फबारी के बाद बंद हो गया है। इससे भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) और सेना की मुसीबतें भी बढ़ गई हैं। उन्हें भारी ठंड में सीमा पर पहरा देना पड़ रहा है। हालांकि, आइटीबीपी के वाहनों की आवाजाही के लिए जेसीबी से बर्फ हटाई भी जा रही है। वहीं, रुक-रुककर बर्फबारी होने के चलते गमशाली से ऊपर वाहनों की आवाजाही फिलहाल ठप हो गई है।

चमोली जिले की नीती घाटी भारत-चीन सीमा से लगी हुई है। यहां सालभर सेना व आइटीबीपी का पहरा रहता है। शीतकाल के दौरान जब यहां लोगों की आवाजाही बंद हो जाती है। तब भी सेना व आइटीबीपी के जवान सीमा की सुरक्षा के लिए चौकस रहते हैं। 

अग्रिम चौकियों पर गमशाली, सिपुक व ग्याल्डुंग में आइटीबीपी तैनात रहती है। गोटिंग में सेना की तैनाती है। इन दिनों नीती घाटी में लगातार भारी बर्फबारी के चलते सेना व आइटीबीपी के वाहन गमशाली से आगे नहीं जा पा रहे। हालांकि, शीतकाल से पहले ही सीमा चौकियों पर पर्याप्त रसद व अन्य जरूर सामग्री पहुंचाई जा चुकी है, जिससे फिलहाल संकट जैसी कोई स्थिति नहीं है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में चारधामों की चोटियों पर बर्फबारी, तापमान में गिरावट

बर्फबारी के बाद ठंड बढ़ने से जवानों को गश्त में मुश्किलें पेश आ रही हैं। नीती गांव के निवासी प्रेम सिंह फोनिया बताते हैं कि बर्फबारी के बाद भी गमशाली से आगे सैन्य वाहनों की आवाजाही बनाए रखने को जेसीबी से बर्फ हटाई जा रही है। अधिक बर्फ जमने के कारण फिलहाल इसमें सफलता नहीं मिल पाई है।

यह भी पढ़ें: दून में झमाझम बारिश, उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत Dehradun News

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021