संवाद सहयोगी, गोपेश्वर: चमोली जिले में बर्फबारी लोगों के लिए मुसीबत बन गई है। पैदल रास्ते, सड़क मार्ग व विद्युत लाइनें क्षतिग्रस्त होने जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। घाट विकासखंड के रामणी गांव से चरबंग के लिए निकली बरात में शामिल बरातियों को बर्फबारी के चलते वापसी के दौरान 20 किमी पैदल चलना पड़ा। औली में पर्यटकों ने रोपवे व चेयर लिफ्ट व स्कीइंग का लुफ्त उठाया।

जिले में बीते दो दिनों से बर्फबारी के बाद भी बारिश का दौर जारी है। ठंड के चलते लोग घरों के अंदर कैद हो गए हैं। मौसम विभाग की चेतावनी के बाद जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने जिले में संचालित कक्षा एक से बारहवीं तक के विद्यालयों के अलावा आंगनबाड़ी केंद्रों में अवकाश घोषित किया है। बर्फबारी के चलते गोपेश्वर चोपता ऊखीमठ, जोशीमठ औली, कर्णप्रयाग गैरसैंण समेत कई मोटर मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं। ऊंचाई वाले इलाके बद्रीनाथ, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, रूपकुंड, रुद्रनाथ, बेदनी, औली बुग्याल सहित कई इलाके बर्फवारी से अच्छादित हो गए हैं। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल औली के अलावा मंडल घाटी के निकट बर्फबारी के बीच पर्यटकों ने यहां की सैर की।

------------------------

चमोली जिले में बर्फबारी का असर

बर्फबारी से प्रभावित गांव -25

बर्फ से सड़क बंद

दिवालीखाल में कर्णप्रयाग-गैरसैंण मोटर मार्ग

जोशीमठ औली मोटर मार्ग कवांण बैंड के पास

गोपेश्वर चोपता मोटर मार्ग चोपता में

बद्रीनाथ हाइवे हनुमानचट्टी से बद्रीनाथ के बीच

-----------------------

इन क्षेत्रों में है बिजली गुल

दिवाली खाल के छह गांवों में, दशोली विकासखंड के गौणा, गाड़ी, पाणा, ईराणी क्षेत्र समेत 13 गांव

जिला मुख्यालय में भी कुछ समय के लिए विद्युत आपूर्ति बाधित हुई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस