संवाद सहयोगी, गोपेश्वर:

चमोली जिला मुख्यालय गोपेश्वर के नगर क्षेत्र में मांग के सापेक्ष आपूर्ति न होने से रसोई गैस वितरण का रोस्टर बिगड़ गया है। जिससे उपभोक्ता अब रसोई गैस की आपूर्ति को लेकर चिता गहराने लगी है। पूर्ति विभाग के अधिकारियों के अनुसार मंगलवार से रोस्टर को सुधारने के लिए सप्लाई बढ़ाकर रोस्टर को ठीक कर लिया जाएगा।

गोपेश्वर नगर क्षेत्र में लॉकडाउन के दौरान रसोई गैस वितरण के लिये पूर्ति विभाग की ओर से बीती 26 मार्च को रोस्टर जारी किया गया था। जिसमें विभाग की ओर से 27 मार्च से 10 अप्रैल तक रसोई गैस वितरण के लिये रोस्टर दिया गया था। लेकिन बीती 30 मार्च को मंडल क्षेत्र के सगर में वितरण के बाद से रसोई गैस की प्लांट से सप्लाई न होने के चलते रोस्टर बिगड़ गया है। इस क्षेत्र के बण्द्वारा गांव में 70 सिलेंडर वितरित होने बाकी हैं। इसके बाद नगर क्षेत्र सुभाषनगर, हलदापानी, महाविद्यालय के पास रसोई गैस बंटनी थी। लेकिन, तय तिथि पर पर्याप्त सिलेंडर न होने के कारण उपभोक्ताओं को रसोई गैस के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। नगर के अन्य क्षेत्रों में रसोई गैस की आपूर्ति को लेकर उपभोक्ताओं की चिता बढ़ गई है।

जिला मुख्यालय गोपेश्वर व आसपास के क्षेत्र में एक माह में 26 ट्रकों से रसोई गैस सप्लाई मिल रही है। एक ट्रक में 288 सिलेंडर होते हैं। गोपेश्वर गैस एजेंसी में लगभग 14 हजार से अधिक उपभोक्ता हैं। ऐसे में रसोई गैस सप्लाई सात हजार सिलेंडरों के लगभग ही हो रही है।

गढ़वाल मंडल विकास निगम के गोपेश्वर गैस सर्विस के वितरण प्रभारी महेंद्र सिंह नेगी का कहना है कि रसोई गैस सप्लाई के वाहन देरी से पहुंच रहे हैं। दो वाहनों की आमद कल तक हो रही है। ऐसे में नगर क्षेत्र व मंडल के बणद्वारा में रसोई गैस सिलेंडरों की आपूर्ति पूरी कर दी जाएगी।

जिला पूर्ति अधिकारी किशोरी शाह का कहना है कि गोपेश्वर में प्लांट से मांग के सापेक्ष आपूर्ति न हो पाने से दिक्कतें आई हैं। अब प्लांट के अधिकारियों से वार्ता कर आपूर्ति को प्रतिदिन दोगुना करने के लिये कहा गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस