संवाद सूत्र, जोशीमठ

पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों ने चुनाव आयोग से शिकायत कर आरोप लगाया है कि पूर्व में त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में भाग लेने के बाद आय-व्यय का ब्यौरा समय पर जमा किए गया, लेकिन इसके बाद भी वर्तमान में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव लड़ने से उन्हें वंचित किया जा रहा है। आरोप लगाया कि प्रशासन की लापरवाही से पूर्व में प्रत्याशी रहे कई लोग चुनाव लड़ने से वंचित रह गए।

वर्ष 2014-15 में जोशीमठ क्षेत्र में 117 पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों ने निर्वाचन प्रक्रिया संपन्न होने के बाद अपनी आय-व्यय का ब्यौरा कोषागार में जमा करवा दिया था। परंतु वर्तमान में उन्हें चुनाव लड़ने से छह साल के लिए प्रतिबंधित किया गया है। प्रधान संगठन के निर्वतमान अध्यक्ष लक्ष्मण सिंह नेगी ने बताया कि प्रतिनिधियों ने आय-व्यय का ब्यौरा उप कोषागार जोशीमठ पास नियमानुसार जमा कर दिया गया था। जनप्रतिनिधियों ने यह भी कहा कि आय व्यय को विकासखंड में संबधित अधिकारी के पास भी जमा किया गया है। परंतु आय व्यय को लेकर हुई कार्रवाई से जनप्रतिनिधियों में शासन-प्रशासन के खिलाफ आक्रोश है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप