देहरादून, जेएनएन। कोरोना वायरस की संभावित वैक्सीन आने पर सबसे पहले फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण होगा। इसके लिए हेल्थ वर्कर्स का डाटाबेस तैयार करने का काम जोर-शोर से शुरू हो गया है, जिसे 28 अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाएगा। पहले चरण के तहत सभी सरकारी-निजी अस्पतालों के कर्मचारियों, आशा और आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का डेटाबेस बनाया जा रहा है।  

चमोली जिले में हेल्थ वर्कर्स का डेटाबेस तैयार करने को लेकर जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने मंगलवार को क्लेक्ट्रेट सभागार में जिला टास्क फोर्स की बैठक ली। उन्होंने चिकित्सा सेवा में लगे हुए चिकित्सा स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के सभी कर्मचारियों, निजी चिकित्सालयों, क्लीनिक, नर्सिंग होम में कार्यरत चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ के साथ ही महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास में कार्यरत सभी आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का निर्धारित प्रारूप में जल्द डाटाबेस तैयार करने के निर्देश दिए हैं। 

उन्होंने कहा कि गलती से भी किसी कार्मिक का डाटा फीड होने से वंचित न रहे। इसके लिए बेहद सावधानी से इसे  तैयार किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि अभी कोरोना की वैक्सीन आई नहीं है, लेकिन वैक्सीन आने पर शासन की गाइडलाइन के अनुसार ही वैक्सीनेशन कराया जाएगा। इस दौरान जिलाधिकारी ने जिले के स्वास्थ्य केंद्रों में कोल्ड चैन, मेडिकल स्टोरेज, मैनपावर आदि की समीक्षा करते हुए जल्द कोल्ड चैन टैक्नीशियन की नियुक्ति भी करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए। 

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. रचना ने निर्धारित प्रारूप में डाटा फीडिंग करने के संबध में विस्तार से जानकरी दी। कहा कि हेल्थ वर्कर का ब्लॉक वाइज डाटाबेस तैयार कर एनआइसी के माध्यम से पोटर्ल पर अपलोड किया जाना है। उन्होंने बताया कि शासन स्तर से जिले में मुख्य विकास अधिकारी को इस कार्यक्रम के लिए नोडल अधिकारी नामित किया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी जीएस राणा ने बताया कि कोरोना की वैक्सीन आने पर चरणबद्ध ढंग से सभी लोगो का टीकाकरण कराया जाना है।

यह भी पढ़ें: डीएम बोले, कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सुरक्षा के उपाय अपनाएं, उल्लास से त्योहार मनाएं

उन्होंने कहा कि सबसे पहले हेल्थ वर्कर्स, उसके बाद बुजुर्ग, गर्भवती महिलाओं और बीमार लोगों का वैक्सीनेशन करने के बाद सभी लोगों का चरणबद्ध तरीके से वैक्सीनेशन कराया जाएगा। बैठक में पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान, मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे, सीएमओ डॉ. जीएस राणा, एसीएमओ एमएस खाती, डीपीओ संदीप कुमार आदि उपस्थित थे। 

यह भी पढ़ें: दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में नई डायलिसिस यूनिट, मिलीं दस मशीनें

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस