चमोली, राकेश सती। नारायणबगड़ के उत्तरी पिंडर रेंज में न्यायपंचायत हरमनी के 35 गांव के लोग इन दिनों गुलदार की दहशत में जी रहे हैं। इस क्षेत्र में आदमखोर गुलदार दो लोगों को निवाला बनाने के साथ ही एक को घायल कर चुका है। हालांकि ग्रामीणों के आक्रोश के बाद अब वन विभाग ने गुलदार को मारने के आदेश दिए हैं। अभी क्षेत्र में गुलदार को कैद करने के लिए पिजरा लगाया है। साथ ही लोगों की सुरक्षा के लिए शिकारी सहित वन कर्मी क्षेत्र में गश्त कर रहे हैं। 

चमोली के उत्तरी पिंडर क्षेत्र के 35 से अधिक गांवों के लोग इन दिनों सायं होने से पहले घरों में कैद होने को मजबूर हैं। इस क्षेत्र में 30 मई से आदमखोर गुलदार का आतंक बना है। उस दिन गुलदार ने त्यूला गांव के मगेटी तोक में छह वर्षीय बच्ची को शिकार बनाया था। वन विभाग व प्रशासन ने गुलदार के आतंक को देखते हुए इसे आदमखोर घोषित कर मारने की सिफारिश की गई है। 

बदरीनाथ वन प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी आशुतोष सिंह ने मंगलवार को प्रमुख वन संरक्षक वन्यजीव व मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक को पत्र भेज कर अनुमति मांगी थी। गैरबारम गांव पहुंचे शिकारी लखपत सिंह ने कहा कि गुलदार को मारने के आदेश हो गए हैं। उन्होंने कहा कि वे घटनास्थल का निरीक्षण कर आगे की कार्रवाई कर रहे हैं। 

कब क्या हुआ 

-30 मई 2020 को त्यूला गांव के मगेटी तोक में नेपाली मूल के व्यक्ति की छ: वर्षीय बालिका को गुलदार ने आंगन से ही उठाकर बनाया निवाला। 

-15 जून 2020 को मगेटी तोक में खेतों में कार्य कर रही 18 वर्षीय युवती पर हमला, लोगों के बचाव के बाद युवती घायल कर गुलदार भागा। 

-29 जून 2020 को गैरबारम के पोखड़ा तोक में 11 वर्षीय किशोरी को घात लगाकर बनाया निवाला। 

-30 जून को गुलदार को आमदमखोर घोषित कर शिकारी लखपत सिंह को किया गया क्षेत्र में तैनात। 

पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंपा 

कुलसारी के गैरबारम में गुलदार के हमले में किशोरी की मौत के बाद राजस्व पुलिस ने मृतका के शव का पोस्टमार्टम कर शव को परिजनों को सौंप दिया गया है। बीती रात कुलसारी के गैराबारम गांव में देवेंद्र सिंह की 11 वर्षीय बेटी दृष्टि को गुलदार घर के पास खेत से तब उठा ले गया जब वह गोशाला से लौट रही थी। 

यह भी पढ़ें: चमोली में तेंदुए ने 11 वर्षीय किशोरी को बनाया निवाला

कुलसारी पटवारी क्षेत्र के राजस्व उप निरीक्षक विनोद कुमार ने बताया कि खोजबीन के बाद किशोरी का शव पास ही झाड़ियों में बरामद किया है। वन क्षेत्राधिकारी जुगल किशोर चौहान के कहा कि मामले में तीन लाख के मुआवजे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। त्वरित राहत के 90 हजार की धनराशि दी जा रही है। 

यह भी पढ़ें: ऋषिकेश में अब सायरन बताएगा गुलदार का मूवमेंट, पढ़िए खबर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस