संवाद सहयोगी, गोपेश्वर। उत्तराखंड सरकार की ओर से चमोली जिले में एयर एंबुलेंस की शुरुआत कर दी गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के जिले के दौरे के तुरंत बाद एयर एंबुलेंस सेवा शुरू होने से राहत मिलने की उम्मीद है। पहले दिन जिला चिकित्सालय में भर्ती तीन गंभीर घायलों को एयर एंबुलेंस से कोरोनेशन अस्पताल देहरादून रवाना किया गया। भाजपा नेताओं ने पुलिस मैदान में हरी झंडी दिखाकर एयर एंबुलेंस को रवाना किया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद में आई आपदा की समीक्षा के दौरान एयर एंबुलेंस सेवा शुरू करने की घोषणा की। बैठक में बताया कि बीती रात दशोली विकासखंड के मैठाणा गांव में गैस सिलिंडर में आग लगने से एक ही परिवार के छह सदस्य झुलस गए थे। इनमें से तीन की हालत गंभीर थी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के एयर एंबुलेंस की घोषणा के तुरंत बाद सरकार की ओर से गोपेश्वर हेलीकाप्टर भेजा गया।

पुलिस मैदान में उप जिलाधिकारी चमोली रविंद्र कुमार जुवांठा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. शिव प्रसाद कुड़ियाल, भाजपा के जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष गजेंद्र रावत, भाजपा मीडिया प्रभारी महावीर सिंह रावत, महिला मोर्चा की अध्यक्ष चंद्रकला तिवाड़ी, दायित्वधारी पुष्पा पासवान आदि ने हरी झंडी दिखाकर एयर एंबुलेंस को रवाना किया। बताया गया कि आपदा या अन्य कारणों से जो भी व्यक्ति 30 प्रतिशत से अधिक घायल होगा, उसे एयर एंबुलेंस से सीधे कोरोनेशन अस्पताल देहरादून तक ले जाया जाएगा। देहरादून में अस्पताल तक पहुंचाने के लिए भी एंबुलेंस की व्यवस्था सरकार की ओर से की जाएगी।

झंडी नहीं हरी चादर से शुरू हुई एयर एंबुलेंस

पुलिस मैदान गोपेश्वर में एयर एंबुलेंस पहुंची तो पहले 20 मिनट तक अस्पताल से पुलिस ग्राउंड तक मरीजों की एंबुलेंस पहुंची ही नहीं। दरअसल, अस्पताल से पुलिस ग्राउंड की दूरी 300 मीटर है। एयर एंबुलेंस को कुछ देर तक बंद करना पड़ा। इसके बाद एयर एंबुलेंस की शुरुआत करने आए भाजपा नेता पुलिस ग्राउंड में पहुंचे। बाद में जिला चिकित्सालय की एंबुलेंस से तीनों मरीजों को पुलिस ग्राउंड में लाया गया, लेकिन कहीं पर भी हरी झंडी ही नहीं मिली। काफी देर तक हरी झंडी के लिए नेता इंतजार करते रहे। इसके बाद आनन-फानन एक हरी चादर लाकर एयर एंबुलेंस को रवाना किया गया।