संवाद सूत्र, गैरसैंण: फोन पर मित्रता कर भगाने की घटनाएं क्षेत्र में बढ़ती जा रही हैं। ऐसा ही एक मामला मंगलवार शाम सामने आया, जब नाबालिग को झांसा देकर भगाने का प्रयास कर रहे युवक को पुलिस ने धर दबोचा। गैरसैंण थानाध्यक्ष रविंद्र नेगी ने बताया कि शांतीनगर काशीपुर निवासी आरोपित विकास रावत को गुरुवार को न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा।

मंगलवार सांय चार बजे गैरसैंण क्षेत्र की नाबालिग लड़की को एक युवक गैरसैंण-दिल्ली बस सेवा में बैठा रहा था कि बस अड्डे पर तैनात होमगार्ड सुरेंद्र सिंह को मामला गड़बड़ लगा। होमगार्ड ने बस में जाकर युवक से पूछताछ की, लेकिन जबाब सही नहीं दे पाया। इस पर वह युवक सहित नाबालिग को वाहन से उतारकर पुलिस थाने ले गया। थानाध्यक्ष ने आरोपित से पूछताछ की तो पता चला कि युवक व नाबालिग लंबे समय से फोन पर संपर्क में थे। सूचना मिलने पर बुधवार को नाबालिग के परिजन थाने पहुंचे। नाबालिग के भाई ने आरोपित के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई। बताया जा रहा है कि मामले में गांव की ही एक महिला, जिसका दामाद काशीपुर में रहता है, वह मध्यस्थता कर रही थी।

Posted By: Jagran