संवाद सूत्र, गरुड़: गरुड़ विकासखण्ड के दर्जनों गांव में मतदाता सूची में नाम गायब होने से मतदाता भड़क गए।उन्होंने चुनाव आयोग से मतदाता सूची तैयार करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग चुनाव आयोग से की है।

सुबह होते ही कई मतदाता गांव की सरकार चुनने अपने बूथ पर पहुंच गए थे। लेकिन मतदाता सूची में नाम न होने से वे दंग रह गए। कुछ देर पीठासीन अधिकारी से जानकारी लेने के बाद वे भड़क गए। कुछ देर बाद वे मायूस होकर अपने घरों को लौट। विकासखण्ड के अमोली गांव में 18 लोगों के नाम मतदाता सूची से गायब थे। मटेना व जिनखोला गांव में भी कई लोगों के नाम मतदाता सूची में दर्ज नहीं थे। इसके अलावा गोमती घाटी, लाहूर घाटी के दर्जनों गांवों में भी मतदाताओं के नाम सूची से गायब थे। जिससे उनमें तंत्र के प्रति खासा आक्रोश व्याप्त था। उन्होंने इस खामी के लिए बीएलओ के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग चुनाव आयोग से की है।

==========

---11बीएजीपी20----

लोकसभा व विधानसभा चुनाव में मतदान किया। इससे पहले वर्ष 2014 में पंचायत चुनाव में मतदान किया। लेकिन इस बार मतदाता सूची में नाम नहीं है। मैं पिथौरागढ़ से मतदान करने घर आया, लेकिन मतदान नहीं कर पाया। लापरवाही बरतने वालों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

- हेम चंद्र पांडे, निवासी मटेना गांव

=========

---11बीएजीपी21----

मैं 64 साल से लगातार मतदान करते आ रहा हूं, लेकिन इस बार मतदाता सूची से नाम गायब है। जबकि मतदान संवैधानिक अधिकार है। चुनाव आयोग को इस लापरवाही के लिए संबंधित कर्मचारियों पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

- कै. गोपाल सिंह, निवासी

जिनखोला गांव

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021