जागरण संवाददाता, बागेश्वर : पेड़ की सूखी टहनी टूटकर बालक के सिर पर गिर गई और वह गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजन उसे तत्काल जिला अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। बालक परिवार का इकलौता चिराग था। हादसे के बाद परिजनों में कोहराम मचा है।

शनिवार को सरकारी विद्यालय बंद थे और दफौट क्षेत्र के तुनेड़ा गांव निवासी राजेंद्र का छह साल का बेटा मयंक अपने साथियों के साथ खेल रहा था। इस दौरान चीड़ के पेड़ की टहनी टूटकर मयंक के सिर पर गिर गई, जिससे उसे गंभीर चोट लग गई। परिजन लहूलुहान हालत में जिला अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। ग्राम प्रधान उमेद सिंह ने बताया कि मृतक अपने परिवार का इकलौता चिराग था, जो प्राथमिक विद्यालय तुनेड़ा में कक्षा एक में पढ़ रहा था। उसकी एक छोटी बहन है। उसके एकाएक चले जाने से परिवार पूरी तरह टूट गया है। गरीब परिवार का चिराग बुझने से माता-पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। उन्होंने जिलाधिकारी से दैवीय आपदा के तहत पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग की है। इधर, प्रभारी कोतवाल मदन लाल ने बताया कि घटना की जांच शुरू कर दी गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस