जागरण संवाददाता, बागेश्वर : शनिवार की सुबह करीब तीन घंटे तक झमाझम बारिश हुई। जिससे स्कूली बच्चे और कामकाजी लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। कपकोट के उच्च हिमालयी गांवों में बर्फबारी से पारा गिर गया है। बर्फीली हवाएं चलने से वहां ठंड बढ़ गई है। लोग अत्यधिक बारिश और बर्फबारी से परेशान हो गए हैं।

शनिवार की सुबह जिले के सभी हिस्सों में करीब तीन घंटे तक झमाझम बारिश हुई। स्कूल जाने वाले बच्चे भी भीगते हुए विद्यालयों तक पहुंचे। कर्मचारी और कामकाजी लोग भी बामुश्किल दफ्तर और अन्य स्थानों तक पहुंच सके। वहीं घरेलू महिलाओं को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। पशुओं के लिए चारा आदि की व्यवस्था करने के लिए उन्हें बारिश में ही घरों से बाहर निकलना पड़ा। लगातार हो रही बारिश से जन जीवन पर बुरा असर पड़ने लगा है।

---------

बर्फ से लकदक गांव

बर्फबारी से खाती, बाछम, कुंवारी, समडर, तीख, डोला, खर्किया, धूर, बदियाकोट, झूनी, खल्झूनी समेत ¨पडर घाटी के सभी गांव पूरी तरह लकदक हो गए हैं। लोग ठंड से बचने के लिए अलाव आदि जला रहे हैं।

---------

शहर से लेकर गांव तक बिजली गुल

बरसात और हिमपात के बाद शहर से लेकर गांव तक बिजली गुल हो गई है। लोगों में ऊर्जा निगम के खिलाफ भारी रोष है। बर्फबारी वाले गांवों के अलावा कस्बाई और नगर में बिजली घंटों गुल रहने से व्यापारी भी परेशान हो गए हैं।

--------

संचार व्यवस्था ढेर

बर्फबारी वाले गांवों में संचार सेवाएं भी ढेर हो गई हैं। कपकोट के आधा दर्जन से अधिक गांवों फोन पर भी एक दूसरे से बात नहीं कर पा रहे हैं।

--------

कितनी बारिश हुई

बागेश्वर-8.50 एमएम

गरुड़-7.50 एमएम

कपकोट-2.50 एमएम

----------

नदियों का जलस्तर

सरयू- 865.40

गोमती- 862.40

-----------

बागेश्वर का पारा

अधिकतम-14 डिग्री सेल्सियस

न्यूनतम-4 डिग्री सेल्सियस

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस