जागरण संवाददाता, बागेश्वर: पंचायत चुनाव मतगणना के दिन के लिए गुरुवार को अभिकर्ताओं के पास की अंतिम तिथि थी। ब्लॉक मुख्यालय में भीड़ उमड़ गई और पहले-पहले के चक्कर में वहां हंगामा भी खड़ा हो गया। निर्गत किए जाने वाले पास के कार्ड कम पड़ गए और तत्काल प्रिटिग प्रेस से सामग्री मांगनी पड़ी। हालांकि देर शाम तक सभी प्रत्याशियों के अभिकर्ताओं को निर्वाचन ने पास मुहैया कर दिए।

बागेश्वर ब्लॉक में करीब एक हजार पास बनाए जाने हैं। इसमें जिला पंचायत, बीडीसी तथा ग्राम प्रधान के अभिकर्ता शामिल हैं। पास बनाने के लिए यहां सुबह से ही लोगों की भीड़ लगी रही। एक ही काउंटर होने के कारण कई बार धक्का-मुक्की भी होने लगी। किसी तरह कर्मियों ने उन्हें संभाला। मालूम हो कि पांच अक्टूबर को बागेश्वर, 11 गरुड़ तथा 16 अक्टूबर को कपकोट ब्लॉक में ग्राम प्रधान, बीडीसी तथा जिला पंचायत सदस्य के लिए मतदान हुआ। अब 21 अक्टूबर को मतगणना होगी। इसके लिए सभी प्रत्याशियों के मतगणना अभिकर्ताओं के पास बन रहे हैं। शुक्रवार को जिला मुख्यालय स्थित ब्लॉक कार्यालय में अभिकर्ताओं के पास बनने शुरू हुए, यह सिलसिला दिनभर चलता रहा। जिला पंचायत सीट के प्रत्येक प्रत्याशी मतगणना के लिए 12 से 13, बीडीसी सदस्य चार तथा ग्राम प्रधान के लिए एक-एक अभिकर्ता तैनात होंगे। रिटर्निग ऑफिसर नरेश कुमार ने बताया कि ब्लॉक में कुल एक हजार पास बनाए जाने हैं। सुबह से ही पास बनाने का शुरू हुआ जो देर शाम तक चलता रहा। उधर गरुड़ तथा कपकोट में भी पास बनाए जा रहे हैं। यहां भी सुबह से लेकर शाम तक पास बनाने वालों की भीड़ लगी रहेगी। मालूम हो कि सभी ब्लॉक मुख्यालयों में ग्राम प्रधानों की वोटों की गिनती होगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप