जासं, बागेश्वर : शहर में अक्सर जाम लगने से लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। इससे शारीरिक दूरी का नियम भी बार-बार टूट रहा है। सोमवार को जाम लगने से यात्री, मरीज और राहगीर भी घंटों परेशान रहे। स्थानीय लोगों ने पुलिस से जाम से शीघ्र निजात दिलाने की मांग की है। सोमवार को वाहनों का दबाव जैसे ही सड़कों पर पड़ा, घंटों तक लोग जाम में फंसे रहे। पिडारी रोड पर एंबुलेंस के अलावा राहगीर भी जाम का हिस्सा बने। सुबह दस से करीब 11 बजे तक यह सड़क जाम के झाम में फंसी रही। यातायात पुलिस भी आवाजाही दुरुस्त कराने में नाकाम रही। वहीं, गरुड़, कांडा, तहसील रोड पर भी पल-पल जाम से वाहनों की रफ्तार पर लगाम लग गई। स्थानीय निवासी भूपेंद्र, राजेंद्र उपाध्याय, कांग्रेस के नगर अध्यक्ष धीरज कोरंगा, नरेश उप्रेती ने कहा कि जाम से निपटने के लिए पुलिस-प्रशासन को सख्त होना होगा। बाईपास सड़कों को ट्रैफिक व्यवस्था सुधर सकती है। माल वाहकों को बाईपास सड़कों से भेजा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ रहा है, जो चिता का विषय है। जाम लगने से शारीरिक दूरी का नियम बार-बार टूट रहा है। उन्होंने पुलिस से जाम से निजात दिलाने की मांग की है। इधर, पुलिस उपाधीक्षक महेश जोशी ने कहा कि यातायात पुलिस को कड़े दिशा-निर्देश दिए गए हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस