संवाद सूत्र, गरुड़: कत्यूर घाटी की नहरों में पानी चलाए जाने की मांग को लेकर किसान संगठन ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजा है। संगठन ने पानी न चलाए जाने पर उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है। किसान संगठन के जिलाध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद ने जिलाधिकारी विनीत कुमार को भेजे ज्ञापन में कहा है कि कत्यूर घाटी की अधिकांश जनसंख्या कृषि पर निर्भर है। यहां अधिकतर लोग खेती से ही अपनी आजीविका चलाते हैं। लेकिन इस बार दो माह से बारिश नहीं हो पाई है। जिससे खेत पूरी तरह सूख गए हैं। सिचाई विभाग अभी तक नहरों में पानी नहीं चला पाया है। जिससे काश्तकार खेतों की सिचाई नहीं कर पा रहे हैं। सिचाई न होने से अभी तक खेतों की जुताई नहीं हो पाई है। जिससे गेहूं बुवाई का कार्य प्रभावित हो रहा है। उन्होंने जिलाधिकारी से शीघ्र सिचाई विभाग को पानी चलाए जाने के आदेश दिए जाने की मांग की है। चेतावनी देते हुए कहा कि एक एक सप्ताह के भीतर पानी नहीं चलाया गया तो वे काश्तकारों को साथ लेकर उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस