जागरण संवाददाता, बागेश्वर: अमसरकोट की लगातार दरकती पहाड़ी अब और भी खतरनाक हो गई है। लगातार हो रहे भूस्खलन के कारण लोक निर्माण विभाग मोटर मार्ग सुचारु नहीं कर पाया है। जिससे आस-पास रहने वाले लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। अमसरकोट के पास संवेदनशील पहाड़ी से लगातार भूस्खलन हो रहा है। बीते दिनों इस पहाड़ी का भूगर्भशास्त्रियों ने अध्ययन किया था। जिसके बाद उन्होंने लोक निर्माण विभाग को दिशा-निर्देशित किया। दो दिन पूर्व मलबा हटाकर मोटर मार्ग को खोल भी दिया गया था। लेकिन फिर मोटर मार्ग एक बार बंद हो गया है। पहाड़ी से मोटर लगातार मलबा गिर रहा है। भारी मात्रा में हुए भूस्खलन से अब थुनई-निहनिया मोटर मार्ग भी बंद हो गया है। यहां से भी वाहन आते जाते थे। इस मार्ग को भी सुचारु करने का प्रयास किया जा रहा है। पहाड़ी से हो रहे भूस्लखन से दिक्कत आ रही है। लोनिवि मार्ग खोलने में जुटा हुआ है। 80 डिग्री की पहाड़ी होने के कारण खतरा बना हुआ है। मोटर मार्ग कब तक सुचारु होगा यह कहा नही जा सकता है। मोटर मार्ग बंद होने से अमसरकोट के आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोनिवि अब इनके लिए वैकल्पिक मोटर मार्ग रुनीखेत-गांधीग्राम-अमतोड़ा से व्यवस्था कर रहा है। इस मार्ग में भी काफी गड्ढे आदि है। विभाग सड़क ठीक करने के कार्य में जुट गया है।

=========

अमसरकोट की पहाड़ियों से लगातार मलबा गिर रहा है। विभागीय कर्मचारी मार्ग खोलने में जुटे हुए है। गांव वालों को कोई दिक्कत ना हो इसके लिए वैकल्पिक मार्ग की व्यवस्था की जा रही है।

- यूसी पंत, अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस