जागरण संवाददाता, बागेश्वर: उत्तर दुग जलमानी के भूलगांव में गुलदार का लगातार आतंक बना हुआ है। गांव से करीब आठ किमी दूर होराली गांव में गुलदार ने एक महिला पर झपटने की कोशिश की और वह घायल हो गई। उसे जिला अस्पताल लाया गया और डॉक्टरों ने इलाज के बाद छुट्टी दे दी है। वन विभाग ने गश्त तेज कर दी है और तीन पिजड़े गांव में लगा दिए हैं।

शुक्रवार की शाम करीब सात बजे होराली गांव निवासी चंपा देवी 32 पत्नी विजय सिंह घर के छत में कपड़े उठाने गई थीं। वहां पहले से सेंध लगाकर गुलदार बैठा हुआ था और उसने महिला पर पीछे की तरफ से वार कर दिया। महिला के कंधे और पीठ में कपड़े लदे होने से उसका वार खाली गया। महिला ने सूझबूझ का परिचय देते हुए कपड़े फेंक दिए और भाग कर जान बचा ली। इस जद्दोजहद में महिला के पीठ पर गुलदार ने पंचा मार दिया हालांकि उन्हें हल्की खरोंच आई। परिजनों ने जिला अस्पताल में उनका इलाज कराया और डॉक्टरों ने उसे छुट्टी दे दी है। घटना के बाद मोहाली गांव में भी दहशत फैल गई है। ग्रामीणों ने गुलदार को आदमखोर घोषित कर मार गिराने की मांग की है।

=========

जलमानी के बाद मोहाली में दहशत

जलमानी के बाद अब मोहाली में भी गुलदार का आतंक तेज हो गया है। भूलगांव में चार अक्टूबर को पांच साल की मासूम दिया को निवाला बनाने के बाद गांव में दहशत है। इस बीच फिर गुलदार ने एक दो साल की बच्ची पर झपटने की कोशिश की। तीसरी बार बीती शुक्रवार की रात करीब आठ किमी दूर होराली गांव में महिला पर झपट गया।

----------

वन विभाग ने लगाए पिजड़े

वन विभाग ने जलमानी क्षेत्र में तीन पिजड़े लगाए हैं और दो ट्रैप कैमरे भी लगा दिए हैं। वन विभाग की चार टीमें रात और दिन में गश्त कर रही हैं। आरओ नारायण दत्त पांडे ने बताया कि गुलदार पिजड़े तक आ रहा है, लेकिन उसके अंदर नहीं जा रहा है। उन्होंने ग्रामीणों से सुबह-शाम सावधानी बरतने को कहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस