जागरण संवाददाता, बागेश्वर: गिरेछीना-सोमेश्वर मोटर मार्ग लोनिवि ने गुरुवार को हल्के वाहनों के लिए खोल दिया है, लेकिन पहाड़ दरकने का सिलसिला अभी रुक नहीं सका है। पहाड़ दरकने से मिट्टी, पत्थर और पेड़ सीधे भटोली सड़क पर गिर रहे हैं जिससे मार्ग आवागन के लिए पूरी तरह ठप है, वहीं पुल को भी खतरा बना हुआ है।

पिछले दो माह से गिरेछीना-सोमश्वर मोटर मार्ग द्वारिकाछीना के समीप बंद चल रहा है। पहाड़ी धंस रही है और बिना बारिश भूस्खलन हो रहा है। जिससे पल-पल में यातायात प्रभावित हो रहा है। गुरुवार को लोनिवि ने सड़क को हल्के वाहनों के लिए खोल दिया है, लेकिन पहाड़ से अभी भी मलबा, पत्थर आदि गिर रहा है, जिससे दुर्घटना का भी भय बना हुआ है। सड़क से सबसे अधिक नुकसान भटोली, काकड़ा आदि गांवों को जोड़ने वाला मार्ग पूरी तरह बंद हो गया है। गधेरे में बना पुल भी खतरे की जद में आ गया है। सड़क बंद होने से बरातों इधर से उधर नहीं हो पा रही हैं। सड़क खुलने का बरातियों को घंटों इंतजार भी करना पड़ रहा है। ---------

टैक्सी वालों की कट रही चांदी स्थानीय निवासी विशन सिंह, करम सिंह, दान सिंह, केदार सिंह, बहादुर सिंह नारायण सिंह आदि ने बताया कि द्वारिकाछीना से नगर तक सिर्फ दो किमी है, जबकि टैक्सी वाले 20 रुपये से कम किराया नहीं ले रहे हैं। सड़क बंद होने के बाद भाड़ा बढ़ा दिया गया है। उन्होंने आरटीओ से बढ़े किराया को कम करने की मांग की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप