जागरण संवाददाता, बागेश्वर : गरुड़ क्षेत्र में सोमवार को अघोषित कटौती हुई। लौ¨पग के बहाने बिजली विभाग ने सुबह से ही बिजली काट दी। लघु और मझौले उद्योग चला रहे लोगों में भारी रोष है। उन्होंने विभाग पर बिना सूचना के कटौती करने का आरोप लगाया है। उन्होंने चेताया कि यदि विभाग ने उपभोक्ताओं के साथ सौतेला व्यवहार किया तो वे आंदोलन को बाध्य होंगे।

कोट भ्रामरी मंदिर में भाद्र पक्ष की नवरात्र में दो दिन का मेला लगता है। सोमवार को बिजली विभाग मेले में बिजली कटौती नहीं हो, इसके लिए तार और पोलों को दुरुस्त करने में लग गया। पेड़ों के बीच फंसे तारों को हटाने का काम भी किया गया। सुबह साढ़े नौ बजे एकाएक बिजली चली गई और छोटे उद्योग बंद हो गए। पुरड़ा गांव में लघु उद्योग चला रहे हेम चंद्र पंत ने बताया कि आए दिन बिजली कटौती हो रही है। उन्होंने बताया कि विभाग के आलाधिकारियों को फोन पर बिजली काटने की जानकारी हासिल की, दूसरी तरफ से जबाव आया कि लौ¨पग चल रही है। उन्होंने बताया कि विभाग ने अघोषित कटौती की। जिससे उनके 50 से अधिक कर्मचारी दिनभर काम नहीं कर पाए। उपभोक्ता नरेंद्र ¨सह रावत, किशन ¨सह, तारा दत्त पांडे, शंकर ¨सह रावत, दीपक चंद्र आदि ने कहा कि अघोषित कटौती से बिजली संचालित यंत्र पूरी तरह से ठप हो गए हैं। उन्होंने कहा कि यदि विभाग ने उपभोक्ताओं की अनदेखी की तो आंदोलन किया जाएगा। इधर अधिशासी अभियंता भाष्कर पांडे ने बताया कि लौ¨पग के चलते बिजली काटी गई थी, दोपहर में सुचारू हो गई है।

Posted By: Jagran