जागरण संवाददाता, बागेश्वर : जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यदि गर्भवती महिला टीकाकरण और जांच कराती हैं तो उन्हें पांच हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि मिलेगी। उन्होंने महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग को योजना के बारे में दिशा-निर्देश दिए।

कलक्ट्रेट में प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि योजना का लाभ प्रत्येक पात्र महिला तक पहुंचाया जाए। उन्होंने लाभांवित महिलाओं की माहवार जानकारी भी हासिल की। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को निर्देश दिए कि वे योजना का लाभ प्रत्येक लाभार्थी तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि पात्रों का चिह्नीकरण भी किया जाए। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बैठक में बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना केन्द्र सरकार की मातृत्व लाभ योजना है जिसके अन्तर्गत प्रत्येक महिला को जो किसी राजकीय सेवा में न हो प्रथम बार गर्भधारण करने पर यदि महिला टीकाकरण व जांच कराती है तो 5000 रुपये की प्रोत्साहन धनराशि तीन किश्तों में सीधे महिला के बैंक खाते में स्थानांतरित की जाती है। योजना का उद्देश्य ससमय पंजीकरण, र्हाइरिश्क मामलों को चिन्हांकित करना एवं संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देना है ताकि शिशु एवं मातृ मृत्यु दर को नियंत्रित किया जा सके, साथ ही महिला स्वास्थ्य का ध्यान रखा जा सके। जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को निर्देश दिए कि योजना के सभी लक्ष्यों को ध्यान में रखकर जमीनी स्तर पर योजना का कार्यान्वयन एवं अनुश्रवण सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने कहा कि योजना को जन-जन तक पहुंचाने के लिए उसका व्यापक प्रचार-प्रसार करें एवं जन जागरूकता अभियान चलाएं। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने अवगत कराया कि इस योजना के अन्तर्गत जिले में अब तक कुल 1539 पात्र महिलाओं को लाभान्वित किया गया है जो तीन किश्तों में क्रमश: 1000, 2000 व 2000 की धनराशि के रूप में दिया जा रहा है। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी एसएसएस पांगती, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जेसी मंडल, जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेन्द्र बिष्ट, लीड बैंक अधिकारी भगवत ¨सह, सीडीपीओ कपकोट दीपा धपोला, नीलम सौन आदि अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran