जासं, बागेश्वर : उत्तरायणी मेले के दौरान भी लोग पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। हैंडपंप पर सुबह से ही लंबी कतार लग रही है। इससे आक्रोशित उपभोक्ताओं ने आपूíत बहाल न होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

शहर में पानी का संकट बरकरार है और तहसील, मजियाखेत में पिछले तीन दिनों से पेयजल की आपूíत नहीं हो सकी है। लोगों को हैंडपंप से पानी निकालना पड़ रहा है, जिसमें उनका समय बर्बाद हो रहा है। उपभोक्ताओं ने कहा कि उत्तरायणी मेले के दौरान भी पेयजल की आपूíत सुचारू नहीं है। अधिकतर योजनाओं का आधा पानी लीकेज आदि से बर्बाद हो रहा है। तहसील रोड निवासी राजू उपाध्याय, पूरन पंत, धीरज कोरंगा, हरीश मनराल ने कहा कि पिछले दो दिन से पानी नहीं आ रहा है। जलसंस्थान के अधिकारियों को फोन से शिकायत भी की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। रविवार को भी जलापूíत नहीं होने से वे परेशान रहे। कपड़े धुलाई और अन्य काम भी नहीं हो सके। पीने का पानी उन्हें हैंडपंप से लाना पड़ रहा है। मेले के दौरान पानी की किल्लत होना लाजिमी है, उपभोक्ताओं का आधा से अधिक पानी होटलों को दिया जाता है। इससे पेयजल संकट पैदा हो जाता है। उन्होंने जलसंस्थान से आपूíत बहाल करने की मांग की है और ऐसा नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। इधर, ईई एमके टम्टा ने कहा कि शहर को शुद्ध पेयजल आपूíत की पूरी कोशिश की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस