जागरण संवाददाता, बागेश्वर: चिकित्सकों के साथ मरीज और तीमारदार भी जिला अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था किए जाने की मांग करने लगे है। चिकित्सकों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक जिला अस्पताल में रेगुलर पुलिस की तैनाती नहीं हो जाती तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

जिला अस्पताल में चिकित्सकों ने सुरक्षा व्यवस्था की मांग को लेकर चिकित्सालय परिसर में प्रदर्शन किया। चिकित्सकों ने कहा कि लगातार जिला अस्पताल में अराजक तत्वों इन घटनाओं को अंजाम दे रहे है। इस संबंध में विभाग के उच्चाधिकारियों को भी जानकारी है। रात के समय शराब के नशे में अस्पताल परिसर में हंगामा करना आम है। इसके अलावा जहां मरीजों के वार्डों में भी हंगामा होते रहा है। जिससे मरीज तीमारदार परेशान रहते है। चिकित्सक डॉ. मनीष पंत, डॉ. राजीव उपाध्याय, डॉ. एलएम बृजवाल, डॉ. गिरिजा शंकर जोशी, डॉ. पंकज पंत, डॉ. रीमा उपाध्याय, डॉ. गुंजन, डॉ. डॉ. एजल पटेल, डॉ. देवेश तिवारी आदि ने बताया कि जब तक जिला अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्था नही की जाती तो तब तक आंदोलन जारी रहेगा। मरीजों को दिक्कत ना हो इसलिए चिकित्सकों ने ओपीडी जारी रखी।

========

वीआइपी को सुरक्षा, आम आदमी दिक्कत में

बागेश्वर: जिला अस्पताल में आए मरीज और तीमारदार भी अब जिला अस्पताल में सुरक्षा व्यवस्था की मांग करने लगे है। राजेंद्र कुमार, रमेश सिंह, मोहन चंद्र पाठक, उषा देवी, मोहिनी, राधा तिवारी आदि ने बताया कि वार्ड में जाकर लिस्ट देखिए। जो भी मरीज और तीमारदार भर्ती होता है जाने से पहले वह जिला अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था के बारे में भी लिख जाता है। वीआइपी चाहे वह नेता हो या अफसर उसके आगे पीछे सुरक्षा व्यवस्था लगी रहती है। जबको उनको कोई जरुरत नही रहती। जब आम नागरिक अपनी सुरक्षा मांग रहा तो उसकी उपेक्षा की जा रही है। आखिर पुलिस का कर्तव्य आम नागरिकों की सुरक्षा है। अस्पताल में हजारों लोग प्रतिदिन आते व जाते है। ऐसे में वहां की सुरक्षा व्यवस्था पहले होनी चाहिए। नही तो गंभीर परिणाम होंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप