जागरण संवाददाता, बागेश्वर: कांग्रेसियों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया और पुलिस पर आम नागरिकों को फंसाने का आरोप लगाया है। उन्होंने हरिनगरी और सालमगढ़ में गुलदार के खिलाफ आंदोलित लोगों के मुकदमे वापस लेने की मांग की। ऐसा नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

शनिवार को कांग्रेस के जिलाध्यक्ष लोकमणि पाठक के नेतृत्व में कांग्रेसी कलक्ट्रेट पहुंचे। वहां उन्होंने नारेबाजी के साथ प्रदर्शन किया और कहा कि गरुड़ तहसील के हरिनगरी और सालमगढ़ में गत वर्ष गुलदार ने पांच मासूमों को निवाला बना दिया था। सर्वदलीय जनप्रतिनिधियों ने 15 नवंबर 2018 को गुलदार से निजात दिलाने की मांग पर लेकर आंदोलन किया। दो साल बाद पुलिस और सत्तापक्ष के जनप्रतिनिधियों की मिलीभगत से आम और गरीब ग्रामीणों को विभिन्न धाराओं में निरूद्ध किया गया है। उन पर मुकदमे दर्ज कर सरेआम लोकतंत्र की हत्या करने की कोशिश की गई है। कुछ ऐसे लोगों को फंसाया गया है जो आंदोलन में थे ही नहीं। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी दल के नेताओं को बचाया गया है और छोटे कार्यकर्ताओं को फंसा दिया गया है। उन्होंने कहा कि आंदोलन समाज के लिए था और गुलदार से बच्चे सुरक्षित नहीं थे। जिसके लिए सर्वदलीय जनप्रतिनिधियों ने आंदोलन खड़ा किया। उन्होंने जनहित को देखते हुए उन पर लगाए गए मुकदमे को वापस करने की मांग की। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे जेलभरो आंदोलन को बाध्य होंगे। इस मौके पर बालकृष्ण, नवीन चंद्र टम्टा, राजेश पांडे, किशन सिंह, बहादुर सिंह बिष्ट, महेश पंत, योगेश पूना, दीपक कुमार आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस