जागरण संवाददाता, बागेश्वर : जिले में भारी बारिश का दौर जारी है। मूसलाधार बारिश से 7 मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। वहीं 13 मोटर मार्ग बंद हैं। मार्ग बंद होने से 20 हजार की आबादी सीधे प्रभावित हो रही हैं। प्रशासन राहत व बचाव कार्य में जुटा हुआ हैं।

जिले में रुक-रुककर बारिश का दौर जारी हैं। बारिश से खर्कटम्टा में गो¨वदी देवी का मकान क्षतिग्रस्त हो गया है वही एक गाय भी आपदा की भेंट चढ़ गया हैं। सात परिवार बेघर हो गए हैं। पलायन गांव में बिशन गिरी का गोशाला ध्वस्त हो गई हैं। वहीं मलबा आने से मकान को भी खतरा बना हुआ हैं। सभी अपने रिश्तेदारों व सुरक्षित स्थान पर रहने के लिए मजबूर हैं। बारिश से सबसे अधिक प्रभावित मोटर मार्ग हुए हैं। 13 मोटर मार्ग बंद होने से आवागमन खासा प्रभावित हो रहा हैं। लोग गाड़ियां बदल-बदलकर सफर करने के लिए मजबूर हैं। सबसे अधिक प्रभावित कपकोट ब्लॉक है।

------------------------

रातिरकेठी 28 परिवारों को खतरा

अतिसंवेदनशील क्षेत्र कपकोट के रातिरकेठी के सेवित क्षेत्र कोट्यूड़ा के ग्रामीणों ने सुरक्षित स्थानों पर विस्थापित करने की मांग की। ग्रामपंचायत रातिरकेठी के ग्रामीणों ने बताया कि रामगंगा नदी के किनारे बसे रातिरकेठी ग्राम पंचायत का सेवित क्षेत्र कोट्यूड़ा विगत कई सालों से आपदा की मार झेल रहा है। आपदा के कारण क्षेत्र में भारी भूस्खलन हो रहा है। जिसके कारण यहां निवास करने वालों 28 परिवारों के आवासीय भवन और खेत खलिहान भूस्खलन की चपेट में आ रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि वे बेहद गरीब हैं, मवेशी पालन और कृषि कार्य कर अपना गुजारा कर रहे हैं। लेकिन आपदा के कारण हर वर्ष उनके खेतों को नुकसान हो रहा है। जिससे परिवारों पर जीवन यापन का संकट पैदा हो रहा है। ग्रामीणों ने डीएम से क्षेत्र की भयावह स्थिति का मौका मुआयना कराकर उन्हें अन्यत्र विस्थापित किए जाने की मांग की है। यहां ग्राम प्रधान रातिरकेठी गोपुली देवी, कुंदन ¨सह, मोहन ¨सह मौजूद रहे।

------------------------ तोली में मकान, पंचायतघर को खतरा

बारिश के बाद हुए भूस्खलन से तोली गांव में मकान और पंचायत घर खतरे की जद में आ गए हैं। लोगों ने जिला प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई है। मंगलवार रात हुई अतिवृष्टि से तोली गांव में भारी भूस्खलन हुआ। जिससे गांव के भूपाल ¨सह, गोपाल राम, शेर ¨सह, दलीप ¨सह, बालक ¨सह के मकानों को खतरा पैदा हो गया है। जबकि गांव का पंचायत घर भी खतरे की जद में आ गया है। तोली में बनी पुलिया की सुरक्षा दीवार ढह गई है। पुल को भी खतरा बना हुआ है। तिलाड़ी इंटर कॉलेज के पास बना सुरक्षा चैकडैम भी बह गया है।

-----------------------------

सात दिनों से हड़बाड़ में अंधेरा

हड़बाड़ गांव सात दिन से अंधेरे में है। गांव में लगा बिजली का ट्रांसफार्मर एक सप्ताह पूर्व जल गया था। जिसे अब तक ठीक नहीं किया जा सका है। जिससे 50 परिवारों के सामने संकट पैदा हो गया है। ग्रामीणों ने शीघ्र बिजली आपूíत बहाल करने की मांग की है।

-----------------------

--- बागेश्वर की बंद सड़कें---

कपकोट-¨पडारी ग्लेशियर

कपकोट-कर्मी

बागेश्वर-दफौट

भ्यू-गडेरा

धरमघर-सनगाड़

बालीघाट-दोफाड़

धरमघर-माजखेत

हरसिला-पुड़कुनी

विजोरीझाल

शामा-लीती

कठपुड़यिाछीना-शेराघाट

सामा-नौकुरी

गैनार-लीली

कपकोट-पो¨लग

-----------------------

--- बागेश्वर में मकान क्षतिग्रस्त---

तारा देवी पत्नी राधेश्याम निवासी बजां

गो¨वदी देवी पत्नी नाथ लाल साह खर्कटम्टा

बद्री दत्त पुत्र कृष्णा नंद वच्यूला

मोहन ¨सह पुत्र खीम ¨सह निवासी कर्मी

बचे ¨सह पुत्र माधो ¨सह खर्कनातोली

गणेश गिरी पुत्र गोपाल गिरी निवासी भ्यूमयचकधुरोनी

अंबा देवी पत्नी लीलाधर निवासी सौकियाथल

------------------

-- प्रशासन राहत व बचाव कार्य चला रहा हैं। प्रभावितों को हरसंभव मदद की जा रही हैं। प्रशासन लगातार आपदा की हर घटना पर नजर बनाए हुए हैं।

रंजना, जिलाधिकारी, बागेश्वर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस